ईएसजी में एक और फंड: आदित्य बिरला म्यूचुअल फंड का ESG NFO कल से खुलेगा,18 दिसंबर को होगा बंद

  • Hindi News
  • Business
  • ESG NFO Of Aditya Birla Mutual Fund To Open From Tomorrow, To Close On December 18

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ऐतिहासिक रूप से ईएसजी वाली कंपनियों में कम जोखिम होता है। उनके पास बेहतर ऑपरेशनल प्रदर्शन और बेहतर रिटर्न जनरेट करने की क्षमता होती है

  • देश के 5 म्यूचुअल फंड हाउसों ने इस थीम पर NFO लांच किया था
  • वैश्विक स्तर की तुलना में भारत में यह कांसेप्ट बहुत ही शुरुआती चरण में है

एनवॉयरमेंट, सोशल और गवर्नेंस (ESG) थीम पर एक और म्यूचुअल फंड ने फोकस किया है। देश के बड़े फंड हाउसों में से एक आदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड ने ESG NFO लांच किया है। यह NFO 4 दिसंबर को खुलेगा और 18 को बंद होगा। इससे पहले देश के 5 म्यूचुअल फंड हाउसों ने इस थीम पर NFO लांच किया था।

रेटिंग के लिए पार्टनरशिप

कंपनी की ओर से जारी प्रेस बयान के मुताबिक फंड हाउस ने ईएसजी स्कोर और रेटिंग के लिए लीडिंग ग्लोबल ESG रिसर्च प्रदाता सस्टेनालिटिक्स के साथ पार्टनरशिप किया है। हर कंपनी का स्कोर ईएसजी के 3 प्वाइंट पर होगा। यह स्कीम फंड के नेट असेट्स का 35 पर्सेंट हिस्सा इंटरनेशनल सिक्योरिटीज में भी निवेश कर सकती है।

ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम

यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है। यह स्कीम उन कंपनियों के शेयरों में निवेश करेगी, जो ईएसजी थीम का पालन करती हैं। फंड हाई क्वालिटी और निरंतर ग्रोथ वाली कंपनियों पर फोकस करेगा, जबकि जोखिम वाली कंपनियों से दूर रहेगा। यह फंड बेसिक फंडामेंटल विश्लेषण और फाइनेंशियल पैरामीटर्स के आधार पर स्टॉक का चयन करेगा।

महत्वपूर्ण पैरामीटर्स के रूप में उभर रहा है ईएसजी

आदित्य बिरला सन लाइफ AMC के MD&CEO ए. बालासुब्रमणियन ने कहा कि ईएसजी फैक्टर्स वैश्विक स्तर पर निवेश के फैसलों में परंपरागत फाइनेंशियल फैक्टर्स से आगे महत्वपूर्ण पैरामीटर्स के रूप में उभर रहे हैं। कोविड19 के बाद यह और तेजी से बढ़ा है। हमारे सर्वे में शामिल 1600 लोगों से भी इसका खुलासा हुआ है। ज्यादातर जवाब देने वाले लोगों ने बताया कि महामारी के बाद ईएसजी निवेश के फैसले में बदलाव आया है। यह उनकी सोच में एक महत्वपूर्ण बदलाव है।

भारत में यह कांसेप्ट अभी बहुत ही शुरुआती चरण में है। यह अभी तक पूरी तरह स्पष्ट नहीं है। जबकि वैश्विक स्तर पर यह स्थापित कांसेप्ट है।

ईएसजी में कम जोखिम

ऐतिहासिक रूप से ईएसजी वाली कंपनियों में कम जोखिम होता है। उनके पास बेहतर ऑपरेशनल प्रदर्शन और बेहतर रिटर्न जनरेट करने की क्षमता होती है। संस्थागत निवेशकों से लेकर रिटेल निवेशक के निवेश निर्णय में नॉन फाइनेंशियल जोखिम पर विचार चल रहा है। इस एनएफओ में कम से कम 500 रुपए का निवेश कर सकते हैं। इसमें एकमुश्त या एसआईपी भी कर सकते हैं। यह फंड उन लोगों के लिए सही है जो लंबी अवधि में अपने निवेश में बढ़त चाहते हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *