ई-कॉमर्स का बढ़ता दबदबा: ऑनलाइन ऑर्डर की संख्या तो 36% बढ़ी, लेकिन इसकी कुल कीमत में आई 5% की कमी

  • Hindi News
  • Business
  • Online Shopping ; E Commerce ; Shopping ; The Number Of Online Orders Increased By 36%, But Its Overall Price Decreased By 5%

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • इसमें सबसे ज्यादा ग्रोथ पर्सनल केयर और ब्यूटी एंड वेलनेस सेगमेंट में देखी गई है
  • लोगों ने ऑनलाइन सामान तो ज्यादा ऑर्डर किया है लेकिन इसकी कीमत का विशेष ध्यान रखा है

2020 की आखिरी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर में भारत में ऑनलाइन (ई-कॉमर्स) ऑर्डर की संख्या (ऑर्डर वॉल्यूम) 36% बढ़ी है। इसमें सबसे ज्यादा ग्रोथ पर्सनल केयर और ब्यूटी एंड वेलनेस सेगमेंट में देखी गई है। केयर्नी और यूनिकॉमर्स की ई-कॉमर्स ट्रेंड्स रिपोर्ट के अनुसार इस तिमाही में पर्सनल केयर और ब्यूटी एंड वेलनेस सेगमेंट में 95% और हेल्थकेयर सेगमेंट में 46% की बढ़ोतरी हुई है।

छोटे शहरों में 90% की ग्रोथ
ऑर्डर वॉल्यूम और ऑर्डर वैल्यू यानी ऑर्डर की कुल कीमत के मामले में टियर 2 और 3 शहरों में अक्टूबर-दिसंबर 2019 के मुकाबले इस तिमाही में 90% की बढोतरी हुई है। इस दौरान ब्रांडेड प्रोडक्ट्स के ऑर्डर 94% बढ़े हैं।

ऑर्डर वैल्यू में आई कमी
भले ही 2020 की अंतिम तिमाही में ऑर्डरों की संख्या में बढ़ोतरी हुई हो लेकिन ऑर्डर वैल्यू यानी ऑर्डर की कुल कीमत में कमी आई है। ये 2019 की अंतिम तिमाही के मुकाबले 5% कम हुई है। फैशन और एसेसरीज वॉल्यूम के हिसाब से सबसे बड़ा सेगमेंट हैं। इसने ऑडरों की संख्या तो 37% बढ़ी है लेकिन ऑर्डर वैल्यू में 7% गिरावट आई है। हालांकि इलेक्ट्रोनिक सामान की ऑर्डर वैल्यू में 12% और ऑर्डरों की संख्या में 27% की वृद्धि हुई है।

टियर 2 और टियर 3 शहरों को रास आ रही ऑनलाइन शॉपिंग
टियर 2 और टियर 3 शहरों के लोग अब ज्यादा ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं। अक्टूबर-दिसंबर 2019 तिमाही में ऑनलाइन शॉपिंग में इस शहरों का हिस्सेदारी 32% थी जो अक्टूबर- दिसंबर 2020 में बढ़कर 46% हो गई है।

कोरोना के कारण बदला शॉपिंग का तरीका
रिपोर्ट में ये देखने को मिला है कि लोगों ने ऑनलाइन से सामान तो ज्यादा ऑर्डर किया है लेकिन इसकी कीमत का विशेष ध्यान रखा है। कोरोना के कारण कई लोगों की कमाई पर विपरीत असर पड़ा है। इसी के कारण लोगों ने महंगे सामान की जगह सस्ते सामान को तवज्जो दी है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *