एंटीलिया केस में NIA को बड़ी कामयाबी: सचिन वझे की राजदार मिस्ट्री WOMEN पकड़ी गई, NIA को वझे का अड्डा भी मिला; स्कॉर्पियो धमकी मामले में अंडरवर्ल्ड का हाथ होने का शक

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Sachin Vaze Antilia Case: Mukesh Ambani Antilia Security Mansukh Hiren Murder Case Update | National Investigation Agency, Mumabi Police Latest News| Mystery Women Caught By Nia NIA

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सचिन वझे को NIA ने दो बार की पूछताछ के बाद 13 मार्च को गिरफ्तार कर लिया था।

एंटीलिया विस्फोटक और मनसुख हिरन हत्या मामले की छानबीन कर रही NIA को पिछले 15 दिनों से जिस मिस्ट्री वीमेन की तलाश थी वह आखिरकार देर रात उसके हाथ लग गई है। महिला की पहचान मीना जॉर्ज के रूप में हुई है। मीना एक नोट काउंटिंग मशीन के साथ सचिन वझे से मिलने के लिए दक्षिण मुंबई के ट्राइडेंट होटल गई थी। होटल के CCTV फुटेज में भी मीना की तस्वीरें कैद हुई थी। इस मामले में NIA को यह पता चला है कि स्कॉर्पियो मामले में जो धमकी दी गई थी उसका अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन है।

काले धन को सफेद करने का काम कर रही थी मीना
जानकारी के मुताबिक, मीना को ठाणे जिले के मीरारोड इलाके में स्थित एक फ्लैट से पकड़ा गया है। यहां वह किराए पर रह रही थी। यह फ्लैट पियूष गर्ग नाम के व्यक्ति का है। NIA को संदेह है कि मीना वझे के काले धन को सफेद करने में मदद करती थी। NIA ने मीरा रोड के फ्लैट पर तलाशी के साथ मीना से पूछताछ भी की और यहां से कई दस्तावेज जब्त किए हैं। देर रात उसे NIA ऑफिस ले जाया गया है।

यह तस्वीर तब की है जब NIA की टीम छापेमारी के लिए मीना के घर आई थी।

यह तस्वीर तब की है जब NIA की टीम छापेमारी के लिए मीना के घर आई थी।

फर्जी सिमकार्ड के लिए इस्तेमाल दस्तावेज भी हुए बरामद
वही रेस्टोरेंट में छापेमारी के दौरान NIA ने वह दस्तावेज बरामद किए हैं, जिसका इस्तेमाल फर्जी नाम पर सिमकार्ड हासिल करने के लिए किया गया था। इस मामले में रेस्तरां का मैनेजर संदेह के घेरे में है।

मीना मुंबई के इसी 7/11 अपार्टमेंट में छिप कर रह रही थी।

मीना मुंबई के इसी 7/11 अपार्टमेंट में छिप कर रह रही थी।

NIA ने खोजा सचिन वझे का अड्डा
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने दक्षिण मुंबई के गिरगांव इलाके में एक रेस्टारेंट पर भी छापेमारी की है। NIA सूत्रों की माने तो यह रेस्टोरेंट ही सचिन वझे का अड्डा था और वझे यही से अपने मंसूबों की प्लानिंग करता था। 25 फरवरी से पहले के 45 दिन और बाद के 20 दिन का CCTV फुटेज जब्त किया है। NIA अधिकारियों ने रेस्टारेंट के मालिक और कर्मचारियों से भी पूछताछ की और यह जानने की कोशिश की कि वझे ने कब-कब और किन-किन लोगों के साथ यहां बैठक की थी।

बांद्रा वरली सी लिंक के इस CCTV फुटेज में सचिन वझे और विनायक शिंदे नजर आ रहे हैं।

बांद्रा वरली सी लिंक के इस CCTV फुटेज में सचिन वझे और विनायक शिंदे नजर आ रहे हैं।

दो CCTV फुटेज भी NIA के हाथ लगे
NIA के हाथ वसई इलाके की सीसीटीवी तस्वीरें भी लगी है, जिसमें वझे मामले में गिरफ्तार एक और आरोपी विनायक शिंदे के साथ नजर आ रहा है। इसके अलावा वरली सी लिंक की भी एक CCTV वीडियो NIA को मिली है, जिसमें वझे और शिंदे एक ऑडी कार में नजर आ रहे हैं। NIA को संदेह है कि मनसुख की हत्या इसी कार में करने का संदेह है। बुधवार को बरामद इस कार की फ़ॉरेंसिक जांच करवाई जा रही है। यह कार सचिन वझे के नाम पर ही रजिस्टर्ड थी। NIA को शक है कि वझे ने हिरन की हत्या के ठीक पहले इस कार का इस्तेमाल किया था। जांच एजेंसी अब तक कुल आठ गाड़ियां जब्त कर चुकी है। NIA को अभी मामले में एक स्कोडा कार की भी तलाश है।

अंडरवर्ल्ड के एक गुर्गे के कहने पर भेजी गई थी धमकी
25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर खड़ी विस्फोटक भरी स्कॉर्पियो कार की जिम्मेदारी लेने से जुड़ा जो संदेश पोस्ट किया गया था, उसमें अंडरवर्ल्ड का कनेक्शन सामने आ रहा है। ‘जैश उल हिंद’ नाम के संगठन ने इसकी जिम्मेदारी ली थी, लेकिन बाद में खुलासा हुआ था कि तिहाड़ जेल में बंद इंडियन मुजाहिद्दीन के तहसीन अख्तर ने टेलीग्राम चैनल के जरिए धमकी भरा यह संदेश भेजा था। NIA को सुराग मिले हैं कि धमकी भरा संदेश पोस्ट करने के लिए वसई से अंडरवर्ल्ड के एक गुर्गे के जरिए जेल के भीतर संदेश भिजवाया गया था। वह मुंबई के चर्चित ‘जेजे शूटआउट’ में दोषी है। फिलहाल वह एक अस्पताल में इलाज करा रहा है। NIA जल्द इससे भी पूछताछ कर सकती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *