कमेंट्स पर सियासत: महाराष्ट्र सरकार जांच करेगी कि लता-सचिन जैसी हस्तियों ने कहीं केंद्र के दबाव में आकर तो किसानों के मुद्दे पर टिप्पणी नहीं की

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Kisan Andolan Maharashtra; Anil Deshmukh On Tweet Inquiry Of Sachin Tendulkar, Virat Kohli, Lata Mangeshkar, Akshay Kumar

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मुंबई कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत का कहना है कि हमें शक है कि इन कमेंट्स के पीछे भाजपा हो सकती है। करीब-करीब सभी ट्वीट्स में ‘सौहार्दपूर्ण’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है।

किसान आंदोलन के समर्थन और विरोध के दौर में महाराष्ट्र में एक नया सियासी विवाद खड़ा हो गया है। सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर समेत कई हस्तियों ने आंदोलन के दौरान देश को एकजुट रखने के मैसेज किए थे। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इन सभी कमेंट्स की जांच का आदेश दिया है।

इस लिस्ट में विराट कोहली, कंगना रनोट, अक्षय कुमार, अजय देवगन भी शामिल हैं। महाराष्ट्र सरकार को शक है कि इन्होंने ये कमेंट केंद्र के दबाव में किए थे। यह दावा मुंबई कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत की ओर से किया गया है।

देवेंद्र फड़नवीस बोले- जांच का आदेश देने वालों की दिमागी हालत की जांच हो
महाराष्ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फड़नवीस ने सरकार के इस कदम को घृणित और अपमानजनक बताया है। उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ महाविकास अगाड़ी को भारत रत्न पाने वाली हस्तियों के लिए जांच शब्द का इस्तेमाल करते हुए शर्म महसूस करनी चाहिए। उनकी टिप्पणियों की जांच की मांग करने वालों और इसका आदेश देने वालों की मानसिक स्थिति की जांच भी जरूरी है।

यह मुद्दा सोमवार को लोकसभा में भी उठा। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर जैसी हस्तियों को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने पूछा कि क्या हमारा देश इतना कमजोर है कि विरोध कर रहे किसानों के पक्ष में बोलने के लिए 18 साल की लड़की (ग्रेटा थनबर्ग) को दुश्मन माना जा रहा है?

गृह मंत्री को सौंपे कई स्क्रीनशॉट
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के साथ सोमवार को कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत की ऑनलाइन मीटिंग हुई थी। इसमें सावंत ने सेलिब्रिटीज के वो सोशल मीडिया कमेंट्स भी दिखाए जो करीब एक जैसे हैं। उन्होंने शक जताया कि ये कमेंट्स केंद्र के दबाव में किए गए हैं।

इसके बाद देशमुख ने मामले की जांच का आदेश दे दिया। मामले की जांच इंटेलिजेंस विभाग करेगा। यह पहली बार है, जब इन सेलिब्रिटीज के कमेंट्स की महाराष्ट्र में जांच होगी। गृह मंत्री देशमुख कोरोना संक्रमित होने के बाद नागपुर स्थित घर पर हैं और ऑनलाइन ही कामकाज देख रहे हैं।

सभी ट्वीट में एक ही तरह के शब्दों का इस्तेमाल
सचिन सावंत ने कहा, ‘पॉप सिंगर रिहाना के कमेंट पर विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया के बाद कमेंट्स की एक सीरीज देखने को मिली थी। यदि कोई व्यक्ति, चाहे वह एक सेलिब्रिटी ही क्यों न हो, अपने आप से प्रतिक्रिया देता है तो उसमें कोई बुराई नहीं। हमें संदेह है कि इन कमेंट्स के पीछे भाजपा हो सकती है। करीब-करीब सभी ट्वीट्स में ‘सौहार्दपूर्ण’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। अगर भाजपा हमारे राष्ट्रनायकों को डरा रही है, तो उन्हें सुरक्षा दी जानी चाहिए।’

मीटिंग की बातें ऐसे सार्वजनिक हुईं
इस मीटिंग में हुई बातों की जानकारी सार्वजनिक करते हुए सचिन जोग नाम के यूजर ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘जूम कॉल के जरिए हुई मीटिंग के दौरान यह तथ्य सामने आए कि कई सेलिब्रिटीज ने केंद्र के दबाव में कमेंट किए थे। इनकी जांच स्टेट इंटेलिजेंस विभाग करेगा।’ इसी ट्वीट को कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने रीट्वीट किया।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *