कोरोना का पॉजिटिव असर: वर्क फ्रॉम होम के चलते देश में ट्रू वायरलेस स्टीरियो जमकर बिके, 2020 इसकी मार्केट वेल्यू 2432 करोड़ रुपए रही

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

देश में म्यूजिक के लिए ट्रू वायरलेस स्टीरियो यानी TWS का डिमांड बढ़ रही है। टेकआर्क (TechARC) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में भारत में इसका शिपमेंट 8.4 मिलियन (करीब 84 लाख) यूनिट रहा। इसकी मार्केट वेल्यू करीब 2,432 करोड़ रुपए थी।

भारत में इसकी मार्केट शिपमेंट में चीनी कंनपी शाओमी सबसे ऊपर रही। TWS कैटेगरी के कुल मार्केट शेयर में उसका 14.7% हिस्सा रहा। इसके बाद बोट 13.9% के साथ दूसरे और रियलमी 13.6% के साथ तीसरे स्थान पर रही।

वर्क फ्रॉम होम से बड़ी TWS की सेल
टेकआर्क के फाउंडर और चीफ एनालिस्ट, फैजल कावोसा ने कहा, “वर्क फ्रॉम होम और रिमोट वर्किंग के चलते स्मार्टफोन यूजर्स के लिए TWS जरूरत बन गया। साथ ही लोगों ने ऑडियो एक्सीपियंस को बेहतर बनाने के लिए भी इसे खरीदा। कोविड-19 का असर इस प्रोडक्ट पर पॉजिटिव हुआ है। अब इसका साइज लगभग दोगुना हो गया है। 2020 के लिए हमारी उम्मीदें 45-50 लाख यूनिट बिकने की थीं।”

मार्केट रेवेन्यू में एपल का दबदबा
टॉप लीटर्स में बोट (boAt) अपनी जगह बनाने में कामयाब रही है। हालांकि, इस तरह से इस कैटेगरी में नई कंपनियां बढ़ रही हैं उसे देखते हुए 2021 में बोट को अपनी पोजिशन का बचाकर रखने की जरूरत होगी। हालांकि, जब बात रेवेन्यू की होती है तब भारत में एपल का रेवेन्यू 35% के करीब रहा। इसके पीछे वनप्लस और शाओमी रहीं।

काउंटरपॉइंट रिसर्च की लेटेस्ट ग्लोबल हेडयरेबल्स (TWS) मार्केट रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 की चौथी तिमाही में TWS की बिक्री 13% (ऑन-क्वार्टर) और 43% (ऑन-ईयर) बढ़ी है। इस दौरान एपल लीडर रहा। सीनियर एनालिस्ट, लिज ली ने कहा कि एपल भले ही TWS सेगमेंट में लीडर रहा, लेकिन साल के दौरान इसकी हिस्सेदारी में लगातार गिरावट आई है। ये पिछली तिमाही के दौरान कुल मिलाकर 9% से 27 प्रतिशत कम है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *