कोरोना की रफ्तार से डरना जरूरी है: एक महीने में एक्टिव केस 63% बढ़े; 67 दिन बाद यह आंकड़ा फिर सवा दो लाख के पार, फ्रांस, इटली और ब्राजील की हालत भी खराब

  • Hindi News
  • National
  • Active Patients Increased 63% In One Month; After January 8, The Figure Crossed 2.5 Million, The Condition Of France, Italy And Brazil Also Worsened

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

देश में मंगलवार को एक दिन में कोरोना के 28,869 नए मामले दर्ज किए गए हैं। बढ़ते कोरोना ने फिर से दुनियाभर को चिंता में डाल दिया है। पेरिस में मरीज एयरलिफ्ट कर दूसरे शहरों में पहुंचाए जा रहे हैं।

देश में मंगलवार को एक दिन में कोरोना के 28,869 नए मामले दर्ज किए गए हैं। यह इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले, इतने ही मामले पिछले साल 15 जुलाई को दर्ज किए गए थे। यह जानकारी केंद्र सरकार के पोर्टल पर रात 12 बजे अपडेट हुई। इनमें महाराष्ट्र के 17,864 केस दर्ज किए गए। वहीं गुजरात के चार शहरों- अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट में रात 10 से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया है।

कोरोना की फिर से तेज रफ्तार का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले एक महीने में सक्रिय मरीजों की संख्या में 63% से ज्यादा की बढ़ोतरी दर्ज हुई है। 15 मार्च को सक्रिय मरीजों का यह आंकड़ा बढ़कर सवा दो लाख पार कर गया। दो महीने पहले यानी 8 जनवरी के आस-पास सक्रिय मरीज सवा दो लाख थे। हालांकि, इस आंकड़े में महाराष्ट्र सहित पांच राज्यों का बड़ा हिस्सा है। लेकिन लगभग 10 राज्यों में संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ी है। सोमवार को भी लगभग 85 दिन बाद देश में 26 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले थे।

एक महीने में महाराष्ट्र में सक्रिय मरीज साढ़े तीन गुना बढ़े, पर केरल में आधे से ज्यादा कम हुए
महाराष्ट्र: वर्तमान में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं। लगभग 65 फीसदी नए मरीज यहीं से आ रहे हैं। पिछले एक महीने में यहां एक्टिव मरीजों की संख्या साढ़े तीन गुना से ज्यादा बढ़ी है। 16 फरवरी को यहां 37,125 एक्टिव मरीज थे, जो बढ़कर 15 मार्च तक 1.30 लाख पार गए हैं। वहीं, देश के कुल एक्टिव मरीजों में भी लगभग 70% हिस्सा महाराष्ट्र का ही है। महाराष्ट्र में मौतें भी सबसे ज्यादा हो रही हैं।

केरल: देश में दो सबसे ज्यादा मरीजों वाले राज्यों(महाराष्ट्र और केरल) का ट्रेंड इस समय उल्टा हो गया है। जहां महाराष्ट्र में तेजी से मरीज बढ़ रहे हैं, वहीं केरल ने तेजी से नए मामलों को नियंत्रित किया है। पिछले एक महीने में केरल में एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर लगभग आधी रह गई है। केरल के साथ-साथ ओडिशा ने भी नए मामलों को नियंत्रित किया है।

बीते 16 दिन में करीब सवा तीन लाख नए मरीज और 1800 मौतें
मार्च में कोरोना के बढ़ते आंकड़े खतरे का अलार्म बजा रहे हैं। देश में 1 मार्च से 16 मार्च के बीच लगभग सवा तीन लाख मरीज सामने आए हैं। इस दौरान 1800 से ज्यादा लोगों की कोरोनो से जान भी गई। अब तक देश में कुल 1.14 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, 1.59 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है।

सात राज्यों में 82 फीसदी मौतें, पांच राज्यों से 78% नए मरीज
मंगलवार को पिछले 24 घंटे में देश में 131 मौतें दर्ज की गईं। इनमें 82.44% मौतें सिर्फ सात राज्यों में हो रही हैं। मौतें के मामलें में भी महाराष्ट्र सबसे आगे है जबकि पंजाब दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु से ही लगभग 78% नए मरीज मिल रहे हैं।

फ्रांस: आईसीयू कोरोना मरीजों से भरे फ्रांस में कोरोना के नए वैरिएंट से हालात बिगड़ गए हैं। पेरिस में सभी ICU बेड भर गए हैं। एयरलिफ्ट कर मरीजों को दूसरे शहरों में ले जाया जा रहा है। अब 100 से ज्यादा मरीजों को पेरिस से दूसरे शहरों में पहुंचाया जा चुका है।

इटली: लॉकडाउन के बाद नए मरीज घटे
इटली में सोमवार से लगभग पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया है। मंगलवार को वहां पिछले 24 घंटे में 15267 नए मरीज मिले। पिछले हफ्ते यहां 25 हजार से ज्यादा नए संक्रमित मिल रहे थे। यूरोप में कोरोना की तीसरी लहर आने के बाद हालात खराब हो गए हैं।

ब्राजील: चौथा स्वास्थ्य मंत्री बदला गया
कोरोना काल में ब्राजील ने चौथी बार अपना स्वास्थ्य मंत्री बदला है। विशेषज्ञों का मानना है कि ब्राजील सरकार ने कोरोना को सबसे खराब तरीके से संभाला है। लिहाजा यह अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। यहां सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *