गूगल की हार: गूगल को ऑस्ट्रेलिया के 7 मीडिया संस्थानों को खबरों के पैसे देने होंगे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कैनबरा5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गूगल ने ऑस्ट्रेलिया के 7 बड़े मीडिया संस्थानों को खबरों के बदले भुगतान करने की हामी भर दी है।

  • सर्च इंजन बंद करने की धमकी भी काम न आई
  • ऑस्ट्रेलियाई सरकार की फेसबुक को भी चेतावनी

ऑस्ट्रेलिया के दबाव में आकर गूगल ने आखिरकार हार मान ली। उसने ऑस्ट्रेलिया के 7 बड़े मीडिया संस्थानों को खबरों के बदले भुगतान करने की हामी भर दी है। अमेरिकी टेक कंपनी ने शुक्रवार को न्यूज शोकेस नाम का एक प्लेटफॉर्म भी लॉन्च किया, जिसमें समाचारों के लिए भुगतान किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूज शोकेस को गूगल ने पिछले साल जून में ब्राजील और जर्मनी में पहले ही रोल ऑउट कर दिया था। लेकिन गूगल ने ऑस्ट्रेलिया के मीडिया संगठनों को अनिवार्य भुगतान की शर्तों को देख इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया था।

पहले तो गूगल ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के मीडिया संस्थानों को भुगतान करने को लेकर बनाए गए कानून का विरोध किया था। लेकिन अब 7 मीडिया संस्थानों के साथ डील कर न्यूज के लिए पैसे देने पर सहमति जता दी है। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने ऐसा ही आदेश फेसबुक को भी दिया है। ऑनलाइन विज्ञापन बाजार में गूगल की हिस्सेदारी 53% और फेसबुक की 23% है। इस कानून का पालन नहीं करने पर दोनों ही कंपनियों पर भारी-भरकम जुर्मान लगाने का भी प्रावधान है। मालूम हो, गूगल ने कुछ दिन पहले ऑस्ट्रेलिया में अपना सर्च इंजन बंद करने की धमकी दी थी। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिशन ने कहा था- ‘वह धमकियों पर जवाब नहीं देते हैं।’ इसके बाद गूगल को यह स्पष्ट संकेत चला गया था कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार किसी भी कीमत पर इस कानून से पीछे नहीं हटेगी।

भारत में भी खूब कमाई कर रहीं टेक कंपनियां
गूगल और फेसबुक समेत अमेरिकी टेक कंपनियां दुनिया के साथ-साथ भारत में भी खूब कमाई कर रहे हैं। फेसबुक और गूगल ने 2018-19 में अपने ऑनलाइन ऐड रेवेन्यू का करीब 70% (11,500 करोड़ रुपए) भारत से कमाए थे। 2022 में यह मार्केट बढ़कर 28,000 करोड़ रुपए का हो जाएगा।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *