चीन पर भड़का अमेरिका: बाइडेन प्रशासन ने शिनजियांग में चीन की कार्रवाई को जनसंहार बताया; कहा- बीते साल में यहां मुस्लिम उइगर और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार बढ़ा

  • Hindi News
  • International
  • Joe Biden Administration Declared Chinese Actions Against Muslim Uyghurs In Xinjiang As Genocide Amid Escalating Tensions With Beijing

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

11 घंटे पहले

रिपोर्ट में कहा गया है कि शिनजियांग में दस लाख से अधिक नागरिकों जबरन कैद किया गया है। उन पर गंभीर अत्याचार किए जा रहे हैं।

अमेरिका का बाइडेन प्रशासन ने शिनजियांग में उइगर मुस्लिम और अल्पसंख्यकों के खिलाफ चीन की कार्रवाई को जनसंहार करार दिया है। बाइडेन प्रशान ने मंगलवार को ह्यूमन राइट्स प्रैक्टिस : चीन नाम की एक रिपोर्ट रिलीज की। इसमें कहा गया है कि शिनजियांग में मुस्लिम उइगर, अन्य जातीय, धार्मिक अल्पसंख्यकों और मानवता के खिलाफ नरसंहार और अपराध बीते कई वर्षों में बढ़े हैं।

ट्रंप प्रशासन ने भी सख्त कदम उठाए थे
इससे पहले अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा था कि चीन की अल्पसंख्यकों और मुस्लिमों पर नीतियां जनसंहार करने के समान हैं। इसके साथ ही सत्ता से बाहर जाने से पहले पोम्पिओ ने चीन पर नए प्रतिबंध भी लगा दिए थे।

चीन पर लगते रहे हैं आरोप
मानवाधिकार संगठनों का कहना है कि चीन उइगर मुसलमानों की आवाज को दबा रहा है। उन्हें बिना कारण के कैद में डालकर प्रताड़ित कर रहा है। अमेरिकी निगरानी दल के मुताबिक, शिनजियांग में चीनी अत्याचार का शिकार होने वाले उइगर मुसलमानों की संख्या दस लाख तक पहुंच गई है। दूसरी तरफ चीन का कहना है कि शिनजियांग प्रांत में आंतक से लड़ने के लिए प्रशिक्षण केंद्र चल रहे हैं। चीन ने किसी तरह की प्रताड़ना के आरोपों से भी इनकार किया है।

शिनजियांग में कुल आबादी का 45% उइगर मुसलमान
चीन ने पूर्वी तुर्कस्तान पर 1949 में कब्जा कर लिया था। उइगर मुसलमान तुर्किक मूल के माने जाते हैं। शिनजियांग में कुल आबादी का 45% उइगर मुसलमान हैं, जबकि 40% आबादी हान चीनी हैं। चीन ने तिब्बत की तरह शिनजियांग को स्वायत्त क्षेत्र घोषित कर रखा है। हान चीनी और उइगर मुसलमान अपनी संस्कृति बचाने के लिए बड़े पैमाने पर विस्थापित होते रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *