जिंदगी बचाने जोखिम में डाली जान: रूस में अस्पताल जलता रहा और डॉक्टर करते रहे ऑपरेशन, ओटी में घुस रहे धुएं को रोकने किया पंखों का इस्तेमाल

  • Hindi News
  • International
  • Hospital Continued To Burn In Russia And Doctors Continued To Do Operations, Used Wings To Stop The Smoke Entering The OT

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मॉस्को2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

दमकलकर्मियों को आग बुझाने में दो घंटे लगे, हादसे के समय अस्पताल में थे करीब 128 से लोग।

रूस के एक अस्पताल में शुक्रवार को अचानक आग लग गई। दमकलकर्मियों को इसे बुझाने में करीब दो घंटे की मशक्कत लगी। हालांकि इससे बड़ी बात ये रही कि घटना के दौरान ऑपरेशन थिएटर में एक मरीज की ओपन हार्ट सर्जरी चल रही थी। इसे डॉक्टरों ने अधूरा नहीं छोड़ा। बल्कि विपरीत हालात में पूरा किया। अपनी जान जोखिम में डालकर मरीज को बचा लिया। घटना रूस के सुदूर पूर्वी ब्लागोवेश्चेंस्क शहर की है।

दमकलकर्मियों के मुताबिक जब यह जानकारी सामने आई कि ऑपरेशन थिएटर में मरीज की सर्जरी चल रही है तो उन्होंने अपनी तरफ से सब-कुछ किया। ऑपरेशन थिएटर में धुआं न पहुंचे इसलिए पंखों का इस्तेमाल किया। आग की वजह से बिजली के तार ध्वस्त हो चुके थे, इसलिए पंखे चलाने के लिए दूसरी जगह से बिजली आपूर्ति का प्रबंध किया। अन्य टीमें आग बुझाने में लगी रहीं। दूसरी तरफ, आठ डॉक्टरों और नर्सों की टीम ऑपरेशन पूरा करने में लगी रही।

बीसवीं सदी के शुरू का अस्पताल, 128 लोग थे, कोई हताहत नहीं
स्थानीय सरकार के प्रमुख वासिलिय ओरलोव ने स्थिति नियंत्रित होने जाने पर कहा, ‘अस्पताल और दमकलकर्मियों की टीम के सामने हम नतमस्तक हैं।’ उनकी प्रतिक्रिया इन तथ्यों के मद्देनजर थी कि 1907 में बने इस अस्पताल में दुर्घटना के वक्त करीब 128 लोग थे। सब को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया। जबकि आग ने पलक झपकते ही अस्पताल की लकड़ी की बनी पूरी छत को अपनी जद में ले लिया था।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *