डेथ एनिवर्सरी: दिव्या भारती ने धर्म बदलकर साजिद नाडियाडवाला से की थी गुपचुप शादी, गोविंदा ने करवाई थी दोनों की पहली मुलाकात

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड अभिनेत्री दिव्या भारती की 5 अप्रैल को 28वीं डेथ एनिवर्सरी है। 25 फरवरी 1974 को जन्मी दिव्या भारती की मौत 5 अप्रैल 1993 को संदिग्ध हालात में हुई थी। दिव्या फिल्ममेकर साजिद नडियाडवाला की पहली पत्नी थीं।

दिव्या ने साजिद से 20 मई, 1992 को शादी की थी। इसके 11 महीने बाद 5 अप्रैल, 1993 को 19 साल की उम्र में उनकी मौत हो गई। दिव्या की मौत का कारण पांचवीं मंजिल की बालकनी से गिरना बताया गया लेकिन मौत के कारणों पर हमेशा विवाद बना रहा।

गोविंदा ने करवाई थी साजिद से मुलाकात

महज 16 साल की उम्र में साजिद नाडियाडवाला से दिव्या भारती की पहली मुलाकात हुई थी। 1990 में जब फिल्मसिटी में गोविंदा और दिव्या फिल्म ‘शोला और शबनम’ की शूटिंग कर रहे थे। तब साजिद अपने दोस्त गोविंदा से मिलने सेट पर गए थे। गोविंदा ने ही दोनों को पहली बार मिलवाया था। फिर देखते ही देखते रोजाना साजिद सेट पर आने लगे और इनका प्यार परवान चढ़ा। एक इंटरव्यू में साजिद ने बताया था, “15 जनवरी, 1992 को दिव्या ने शादी करने की मांग की। इसके अलगे ही दिन वह अपना नाम दूसरे को-स्टार से लिंक किए जाने पर बेहद परेशान थीं। इन सभी अफवाहों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए वह शादी करना चाहती थीं।”

धर्म बदलकर गुपचुप हुई शादी

20 मई, 1992 को हेयर ड्रेसर संध्या और उनके पति की मौजूदगी में दिव्या-साजिद की शादी हुई थी। साजिद के वर्सोवा स्थित तुलसी अपार्टमेंट में काजी ने इनका निकाह पढ़ा। दिव्या ने इस्लाम कबूला और अपना नाम बदलकर ‘सना’ रखा। साजिद ने एक इंटरव्यू में बताया था, “हमने शादी की बात छिपाई रखी, क्योंकि दिव्या का करियर दांव पर लगा था। यह बात बाहर निकलती तो प्रोड्यूसर डर जाते। इससे उलट मुझे लगता था कि हमें यह बात जगजाहिर करनी थी। दिव्या हमेशा से अपनी शादी की बात सबको बताना चाहती थी। लेकिन मैं उन्हें बार-बार मना करता था। शायद मुझे ऐसा नहीं करना था।”

साजिद ने कर ली दूसरी शादी

दिव्या की मौत के बाद साजिद ने वर्धा खान से दूसरी शादी की थी। एक इंटरव्यू में वर्धा ने दिव्या भारती को लेकर कई सारी बातें शेयर की थीं। वर्धा ने कहा था,’लोग अक्सर कई तरह के सवाल पूछते हैं और मुझे ट्रोल भी करते हैं लेकिन मैं कहना चाहूंगी कि दिव्या आज भी हमारी जिंदगी का हिस्सा हैं। उनका परिवार, उनके पिता, उनके भाई कुणाल हमारे लिए परिवार की तरह हैं, वह हर खुशी में शामिल होते हैं। दिव्या के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर हम एक-दूसरे से बात करते हैं। जब मेरे बच्चे दिव्या की फिल्में देखते हैं तो उन्हें बड़ी मम्मी कहकर बुलाते हैं।’

वर्धा ने आगे कहा,’साजिद और दिव्या के परिवार के बीच बहुत अच्छे संबंध हैं, वह दिव्या के पिता के लिए उनके बेटे के जैसे हैं। मैंने कभी दिव्या की जगह लेने की कोशिश नहीं की। मैंने अपनी जगह बनाई। यादें हमेशा खूबसूरत होती हैं।’

1990 में किया था डेब्यू​​​​​​​

1990 में आई तेलुगु फिल्म ‘बोबली राजा’ से डेब्यू करने वाली दिव्या ने 1992 में बॉलीवुड फिल्म ‘विश्वात्मा’ में काम किया। इस फिल्म में दिव्या पर फिल्माया गया गीत ‘सात समुंदर पार’ आज भी लोगों की जुबान पर रहता है। इसके अलावा उन्होंने 14 फिल्मों में काम किया जिनमें से ज्यादातर हिट साबित हुई थीं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *