दिल्ली ट्रैक्टर परेड के बवाल पर कार्रवाई: बागपत में RLD के पूर्व विधायक, जाट महासभा के प्रधान संरक्षक थांबा चौधरी समेत 9 को नोटिस

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बागपत2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गणतंत्र दिवस पर कुछ किसान लाल किला तक पहुंच गए थे। लाल किले पर धर्म ध्वज फहराया गया था।

  • सभी आरोपियों को पांडवनगर थाना पुलिस ने बयान दर्ज करने के लिए बुलाया
  • 26 जनवरी को दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान हुई थी हिंसा

कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान हुए बवाल में दिल्ली पुलिस ने आरोपियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। पांडवनगर थाना पुलिस ने मामलों में आरोपित जाट महासभा के प्रधान संरक्षक विनोद खेड़ा, थांबा चौधरी समेत 9 लोगों को नाटिस तामील कराकर बयान देने के लिए बुलाया है। पुलिस की इस कार्रवाई दिल्ली परेड में ट्रैक्टर लेकर जाने वालों में भय है।

इन्हें मिला नोटिस
राष्ट्रीय लोकदल के पूर्व विधायक वीरपाल राठी, थाम्बा खाप के चौधरी ब्रजपाल सिंह, बलजोर सिंह आर्य, सभासद पति आशुतोष, संजीव बड़ौली, जिला जाट महासभा के प्रधान संरक्षक विनोद खेडा, विपिन ढिकाना, पंकज बिजरौल समेत नौ लोगो को नोटिस तमील कराया गया है।

दिल्ली पुलिस ने 6, 7 और 8 फरवरी को थाने में बयान देने के लिए बुलाया है। दरअसल, गणतंत्र दिवस पर दिल्ली बॉर्डर पर निकाली गई ट्रैक्टर रैली में बागपत से तमाम किसान ट्रैक्टर लेकर गए थे। जहां हुई हिंसा में इन लोगों को आरोपी बनाया गया है। नोटिस मिलने के बाद किसान नेता व खाप चौधरी एक बार फिर अपने खिलाफ हुई कार्रवाई से किसानों की पंचायत बुलाने की बात कर रहे हैं।

बयान दर्ज करने के लिए बुलाया गया

एएसआई धीरेंद्र ने बताया कि शुक्रवार को दिल्ली के पांडवनगर थाना पुलिस कोतवाली आई थी और आरोपियों को नोटिस तामील कराने के लिए मदद मांगी थी। सभी को दिल्ली में हुई के बाबत बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *