दूर-दूर तक मशहूर है यहां का पनीर: उत्तराखंड में रौतू की बेली गांव को कहते हैं ‘पनीर विलेज’, 250 परिवार वाले इस गांव के हर घर में पनीर बनाकर बेचने के कारण रखा गया ये नाम

  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Bailey Village Of Rautu In Uttarakhand Is Called ‘Paneer Village’, This Name Was Given Because Of Making And Selling Cheese In Every House Of This Village With 250 Families.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यह जानकर आपको हैरानी होगी कि हमारे देश में एक ऐसा गांव भी है, जिसका नाम पनीर विलेज है। उत्तराखंड में मसूरी के पास स्थित इस गांव का नाम वैसे तो रौतू की बेली है। लेकिन, इस गांव में पनीर इतना ज्यादा बनाया जाता है कि गांव का नाम ही पनीर विलेज पड़ गया है। 250 परिवारों वाले इस गांव के हर घर में सिर्फ पनीर बनाकर बेचा जाता है। यही इन लोगों की आजीविका का साधन है।

एक वक्त ऐसा था जब ये गांव पहाड़ के दूसरे इलाकों की तरह रोजगार के लिए जूझ रहा था। ग्रामीणों का कहना है कि पहले गांव के 35 से 40 परिवार ही पनीर बनाते थे, लेकिन अब गांव के सभी परिवार इस काम से जुड़े हैं। यहां के पनीर की मांग टिहरी, उत्तरकाशी ही नहीं देहरादून, मसूरी से लेकर दिल्ली तक है। इस गांव में सबसे पहले पनीर बनाकर बेचने का काम कुंवरसिंह पंवार ने 1980 में शुरू किया था। तब पनीर चार से पांच रुपए किलो बिकता था।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *