देश का पहला मामला: स्वर्ण नगरी के हवाई सेवा फिर शुरू करेगास्पाइस जेट, घाटे की पूर्ति करेंगे व्यवसायी, शुरू होगी पर्यटकों की आवक

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जैसलमेरकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

जैसलमेर का विश्व प्रसिद्ध सुनहरी आभा लिए सोनार फोर्ट।

  • रंग लाई जैसलमेर को पर्यटन व्यवसायियों की मुहिम
  • कोरोना के कारण जैसलमेर का कट गया था संपर्क

स्वर्ण नगरी में पर्यटकों की आवक सुनिश्चित करने में जुटे व्यवसायियों की मुहिम आखिरकार रंग लाई। अब पर्यटक आराम से हवाई जहाज के जरिये जैसलमेर पहुंच सकेंगे। स्पाइस जेट दिल्ली से जैसलमेर व अहमदाबाद की हवाई सेवा जारी रखने पर सहमत हो गई है। हवाई सेवा 12 फरवरी से बहाल की जाएगी। हवाई सेवा के दौरान स्पाइस जेट को होने वाले नुकसान की भरपाई यहां के व्यवसायी मिलकर करेंगे। देश में अपने तरह का यह पहला ऐसा मामला है जिसमें व्यवसायियों ने मिलकर हवाई सेवा जारी रखने के लिए इस तरह की पहल की है।

जैसलमेर जिला कलेक्टर आशीष मोदी के प्रयास से स्पाइस जेट व व्यवसायियों के बीच एक समझौता हुआ। इस एमओयू के तहत लागत से कम आय होने पर स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों द्वारा उसका भुगतान किया जाएगा। इसके लिए हर 15 दिन में बुक सीटों का हिसाब स्पाइसजेट कंपनी देगी। जिसके बाद अगर घाटा रहता है तो 15 दिन की लागत में कम होने वाली राशि का भुगतान स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों द्वारा दिया जाएगा। स्पाइसजेट के साथ एमओयू के तहत आगामी 12 फरवरी से 13 मार्च तक हवाई सेवा सुचारू रखने की बात हुई।

सप्ताह में तीन दिन दिल्ली व तीन दिन अहमदाबाद के लिए हवाई सेवाएं सुचारू रखी जाएगी। जिसमें सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को दिल्ली तथा मंगलवार, गुरूवार व शनिवार को अहमदाबाद के लिए फ्लाइट शुरू रहेगी। स्पाइसजेट द्वारा दिल्ली तक उड़ान के लिए हर फेरे के 6 लाख व अहमदाबाद की उड़ान के लिए 1 लाख रुपए का खर्च बताया गया है।

देश में पर्यटन को बचाने के लिए स्थानीय लोगों द्वारा की गई यह पहल अपने आप में ऐसा पहला मामला है। ऐसा एमओयू देश में पहली बार हुआ है जिसमें हवाई सेवा सुचारू रखने के लिए पर्यटन व्यवसायी आगे आए है। पर्यटन व्यवसायियों का एकमात्र उद्देश्य हवाई सेवा के माध्यम से पर्यटन को बचाना है। स्पाइसजेट ने लागत ज्यादा आने व यात्री कम मिलने के चलते ही गत 28 जनवरी से हवाई सेवाएं बंद कर दी थी। जिस पर ही स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों द्वारा यह एमओयू किया गया है।

जैसलमेर के महारावल चैतन्यराज सिंह ने कहा कि ये सराहनीय प्रयास है। ये सभी लोगों की जैसलमेर के प्रति प्यार है। उम्मीद है यह मुहिम सफलतापूर्वक चलेगी। होटल व्यवसायी मयंक भाटिया का कहना है कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि हवाई कंपनी और जैसलमेर को लोग मिलकर हवाई सेवा चलाएंगे। सभी ने हिम्मत दिखाई और पर्यटन को बचाने की सराहनीय पहल की। सम रिसॉर्ट वेलफेयर विकास समिति के अध्यक्ष केके व्यास का कहना है कि यदि स्पाइस जेट ज्यादा कमाएंगा को तो वह उनका रहेगा। यदि घाटा होता है तो उसके नुकसान की भरपाई करने की हम गांरटी देते है। कोरोना काल के कारण जैसलमेर की कनेक्टिविटी पूरी तरह से समाप्त हो गई थी। ऐसे में पर्यटक आ नहीं पा रहे थे। हम सभी टूर ऑपरेटरों से अपील करते है कि वे इसमें सहयोग दे और बड़ी संख्या में पर्यटकों को यहां भेजे ताकि स्पाइस जेट को घाटा न हो। यह अनुकरणीय पहल है और इसे हम सभी मिलकर ही सफल बना अन्य लोगों के सामने उदाहरण पेश कर सकते है। से अपील करते है कि

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *