देश की सबसे बड़ी पोर्ट डेवलपर कंपनी अब अडानी की हुई, कंपनी ने खरीदी 75% हिस्सेदारी खरीदी

  • Hindi News
  • Business
  • Adani Ports Closes Krishnapatnam Port Deal At Enterprise Value Of Rs 12,000 Crore

नई दिल्ली23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इस डील के पूरा होने के बाद अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन लिमिटेड की क्षमता साल 2025 तक 500 मिलियन मेट्रिक टन हो जाएगी।

  • केपीसीएल एक मल्टी कार्गो फैसिलिटी पोर्ट है
  • अब अडानी पोर्ट्स के पास KPCL की 75 फीसदी हिस्सेदारी होगी

अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड (APSEZ) ने भारत के सबसे बड़े पोर्ट डिवेलपर कृष्णपट्टनम पोर्ट कंपनी लिमिटेड (KPCL) को 12 हजार करोड़ रुपए में खरीद लिया है। इस डील के पूरा होने के बाद APSEZ के पास KPCL की 75 फीसदी हिस्सेदारी होगी। यह जानकारी सोमवार को अडानी कंपनी द्वारा दी गई है।

केपीसीएल है दूसरा सबसे बड़ा प्राइवेट पोर्ट

केपीसीएल एक मल्टी कार्गो फैसिलिटी पोर्ट है। यह यह आंध्र प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में स्थित है जो समुद्र तट इलाके के क्षेत्रफल के हिसाब से देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है। एपीएसईजेड के सीईओ और डायरेक्टर करन अडाणी के केपीसीएल के अधिग्रहण पर खुशी जताते हुए कहा कि देश की दूसरी सबसे बड़ी प्राइवेट पोर्ट अब एपीएसईजेड का हिस्सा है।

केपीसीएल का ईबीआईटीडए 1200 करोड़ रु. होगा

माना जा रहा है कि इस डील के पूरा होने के बाद अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन लिमिटेड की क्षमता साल 2025 तक 500 मिलियन मैट्रिक टन हो जाएगी। कंपनी ने अपने बयान में उम्मीद जताई है कि वित्त वर्ष 2020-21 में केपीसीएल का ईबीआईटीडए करीब 1200 करोड़ रुपए होगा। यह अधिग्रहण मूल्य का 10 फीसदी है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *