देश के सबसे बड़े बैंक में नौकरशाह: इकोनॉमिक अफेयर्स के पूर्व सेक्रेटरी अतानू चक्रबर्ती हो सकते हैं HDFC बैंक के चेयरमैन

  • Hindi News
  • Business
  • Who Is Atanu Chakraborty; Former Secretary Of Economic Affairs May Be New Chairman Of HDFC Bank

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बता दें कि करीबन 8 लाख करोड़ रुपए वाला एचडीएफसी बैंक इस समय मार्केट कैप के लिहाज से तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। हाल ही में इसके एमडी एवं सीईओ आदित्य पुरी भी रिटायर हो गए थे

  • चक्रबर्ती 1985 बैच के IAS अधिकारी हैं। वे गुजरात कैडर के अधिकारी हैं
  • अप्रैल 2020 में चक्रबर्ती इकोनॉमिक अफेयर्स मंत्रालय से रिटायर हुए थे

इकोनॉमिक अफेयर्स के पूर्व सेक्रेटरी अतानू चक्रबर्ती निजी सेक्टर के सबसे बड़े बैंक HDFC बैंक के अगले चेयरमैन हो सकते हैं। वे श्यामला गोपीनाथ की जगह लेंगे। श्यामला गोपीनाथ जनवरी में रिटायर हो रही हैं।

आरबीआई से मंजूरी का इंतजार

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पास मंजूरी के लिए चक्रबर्ती का नाम भेजा है। बैंक में चेयरमैन पार्ट टाइम का होता है। माना जा रहा है कि अतानू चक्रबर्ती के नाम पर रिजर्व बैंक मंजूरी दे सकता है। चक्रबर्ती 1985 बैच के IAS अधिकारी हैं। वे गुजरात कैडर के अधिकारी हैं। अप्रैल 2020 में वे इकोनॉमिक अफेयर्स मंत्रालय से रिटायर हुए थे। इससे पहले वे निवेश और पब्लिक असेट मैनेजमेंट विभाग (दीपम) के सेक्रेटरी थे। यह दोनों विभाग वित्त मंत्रालय के तहत आते हैं।

रिजर्व बैंक में थीं श्यामला गोपीनाथ

श्यामला गोपीनाथ भारतीय रिजर्व बैंक की पूर्व उप गवर्नर हैं। वे 2015 जनवरी में बैंक की चेयरपर्सन बनी थीं। बैंक के बोर्ड की सोमवार को मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में चक्रबर्ती के नाम पर सहमति बनी और उनका नाम रिजर्व बैंक को भेज दिया गया। अगर उनके नाम को मंजूरी मिल जाती है तो वे दूसरे नौकरशाह होंगे जो निजी सेक्टर के बैंक के चेयरमैन होंगे। इससे पहले आईसीआईसीआई बैंक के चेयरमैन के रूप में पेट्रोलियम विभाग के पूर्व सेक्रेटरी जीसी चतुर्वेदी को नियुक्त किया गया था।

7.85 लाख करोड़ का मार्केट कैप

बता दें कि करीबन 7.85 लाख करोड़ रुपए वाला एचडीएफसी बैंक इस समय मार्केट कैप के लिहाज से तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। हाल ही में इसके एमडी एवं सीईओ आदित्य पुरी भी रिटायर हो गए थे। देश के बैंकिंग सेक्टर में वे सबसे लंबे समय तक एमडी एवं सीईओ रहने वाले अधिकारी रहे हैं। एचडीएफसी बैंक लगातार बेहतरीन काम कर रहा है। हालांकि रिजर्व बैंक ने हाल में इस पर जरूर कुछ कार्रवाई की थी।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *