नए कृषि कानूनों के विरोध में धरना प्रदर्शन जारी: ढासा बॉर्डर, डीघल टोल, दुजाना चौक व रोहद टोल पर आज तीन घंटे लगेगा जाम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बादली44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गुलिया खाप तीसा की अगुवाई में चल रहा किसानों धरना आज 59वे दिन में प्रवेश कर गया। किसान आंदोलन के धरने की अध्यक्षता गुलिया खाप तीसा के प्रधान विनोद गुलिया कर रहे है। विनोद गुलिया ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि किसान संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 6 फरवरी को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक देश के सभी राज्यों में राष्ट्रीय व राज्य मार्ग बंद किये जाएंगे। ढासा बॉर्डर के किसान बादली में गुरुग्राम चौक के साथ-साथ बेरी में जहाजगढ़ चौक, डीघल में टोल प्लाजा, दुजाना चौक, रोहद टोल प्लाजा सहित अन्य रास्तों को रोकने का काम करेंगे।

धरने पर शुक्रवार को धनखड़ खाप के प्रधान युद्धबीर धनखड के नेतृत्व में 300 से ज्यादा ट्रैक्टरों व अन्य साधनों का जत्था पहुंचा। उनके साथ जगपाल पूर्व सरपंच रंखण्डा, राजेंद्र धनखड़ डावला, अमरजीत हसनपुर, चांद समसपुर, जितेंद्र रईया भी युद्धवीर प्रधान के साथ पहुंचे। युद्धबीर प्रधान ने कहा कि धनखड़ खाप पूरे जोर से किसान आंदोलन का समर्थन करती रहेंगी।

धरने पर सचिन कादयान के नेतृत्व में युवाओं का एक जत्था भी पहुंचा। ये सभी युवा खेल प्रतियोगिता में इनाम जीत कर आए थे। इन युवाओं ने सारी इनाम की राशि किसान आंदोलन को सहयोग के लिए दान दी। बादली के ढासा बॉर्डर पर वीरेंद्र डागर अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन दिल्ली प्रदेश, जय प्रकाश बेनीवाल, दीपक धनखड़ कासनी, अनूप सिंह सुबाना, रामनिवास यादव देवरखाना, जगबीर सफीदपुर, ईश्वर सिंह, रामकुमार सोलंकी पालम 360, राजेश झामरी, बिल्लू कादयान ने भी धरने को संबोधित किया।

पुलिस अलर्ट
26 जनवरी को हुई हिंसा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने सभी सीमाओं पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए हैं ताकि उपद्रवी टिकरी बाॅर्डर से दिल्ली में प्रवेश न कर सकें। दिल्ली पुलिस के पीआरओ ने बताया कि पुलिस या अन्य चीजों के बारे में अफवाहें न फैलाई जाएं यह सुनिश्चित करने के लिए हम सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर की जा रही सभी सामग्रियों पर नजर बनाए हुए हैं।

प्रदर्शनकारी टिकरी बाॅर्डर की सीमा पर डेरा डाले हुए हैं। वहीं दिल्ली पुलिस बराबर झज्जर पुलिस के भी संपर्क में हैं। कृषि कानूनों पर जारी गतिरोध के बीच किसान संगठनों ने 6 फरवरी को प्रस्तावित चक्का जाम के आह्वान के बाद बहादुरगढ़ में भी पुलिस अलर्ट हो गई हैं। इसके मद्देजनर वहीं पुलिस ने चक्का जाम के दौरान किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के इंतजामों पर घंटों तक गहनता चर्चा शुरु कर दी है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *