पहली बार टॉप कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में जवान भी होंगे: PMO ने कॉन्फ्रेंस में जवानों को शामिल करने का आइडिया दिया, अब ये जवान मोदी के सामने प्रेजेंटेशन देंगे

  • Hindi News
  • National
  • Combined Commanders Conference 2021; Prime Minister Narendra Modi Address Military Commanders In Kevadia

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

यह फोटो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तमिलनाडु दौरे की है। इस दौरान उन्होंने अर्जुन मार्क-1-A टैंक राष्ट्र को समर्पित किए थे।

इस हफ्ते के आखिर में सेना के जवान सैन्य कमांडरों कंबाइंड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में शामिल होंगे। इस कॉन्फ्रेंस की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इस कॉन्फ्रेंस में जवानों को पहली बार शामिल किया गया है। अब तक इस कॉन्फ्रेंस में सेनाओं के प्रमुख और कमांडर-इन-चीफ रैंक के अफसर शामिल होते थे।

न्यूज एजेंसी एएनआई ने बताया कि कॉन्फ्रेंस में जवान प्रधानमंत्री के साथ सेना की कार्यप्रणाली और ऑपरेशंस के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेंगे। कॉन्फ्रेंस में जवानों को शामिल किए जाने का आइडिया प्रधानमंत्री कार्यालय से ही आया था।

चीन से टकराव के वक्त भी जवानों की सलाह काम आई
सूत्रों के मुताबिक, कंबाइंड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में जूनियर कमीशंड अफसर, नॉन-कमीशंड अफसरों को शामिल किया जाएगा। इन्हें कुछ विषय भी दिए गए हैं, जिन पर ये प्रेजेंटेशन तैयार करेंगे। इन्हें प्रधानमंत्री के सामने पेश किया जाएगा। हाल ही में LAC पर चीन के साथ हुए टकराव के दौरान जवानों के सजेशंस काफी कारगर साबित हुए थे। जवानों ने रोजाना की कार्यप्रणाली, चीनी सेना के सामने खाई खोदने और रुकावटें खड़ी करने को लेकर अपनी राय जाहिर की थी। इससे सेना को काफी फायदा हुआ था।

मोदी ने ही कंबाइंड कॉन्फ्रेंस का ढर्रा बदला
सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने ही कंबाइड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस का ढर्रा बदलने का काम शुरू किया है। पहले ये कॉन्फ्रेंस साउथ ब्लॉक में होती थीं, लेकिन अब मोदी ने ही इसे ऑपरेशनल बेस पर शुरू करवाया है। 2014 में मोदी ने पहली बार इस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया था। इसके बाद ये INS विक्रमादित्य, इंडियन मिलिट्री अकादमी, देहरादून और जोधपुर एयरबेस पर हो चुकी है।

इस बार ये कॉन्फ्रेंस गुजरात के केवडिया में सरदार बल्लभ बाई पटेल के स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के सामने होगी। इस दौरान मिलिट्री के टॉप कमांडर्स टेंट में ठहरेंगे।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *