पेलेस्टिनियन ट्रेवल ब्लॉगर सोशल मीडिया के जरिये दे रहीं फिलिस्तीनी पर्यटन को बढ़ावा, इंटरनेशनल ट्रेवलिंग पर प्रतिबंध के दौर में काम कर गई उनकी मेहनत

  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Two Palestinian Travel Bloggers Promoting Palestinian Tourism Through Social Media, Their Efforts Worked During The Period Of International Travel Ban

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • इस पेज के माध्यम से ये दोनों ट्रेवल ब्लॉगर लोगों को ट्रेवल डेस्टिनेशन से जुड़ी जानकारी देती हैं
  • ये दोनों यंग ब्लॉगर खूबसूरत साइट की तस्वीरे अपने इंस्टाग्राम पेज पर अपलोड करती हैं

वेस्ट बैंक में स्थानीय फिलिस्तीनी पर्यटन को बढ़ावा देने वाली दो ट्रैवल ब्लॉगर्स चर्चा में हैं। वेस्ट बैंक में ईसाई, मुस्लिम और यहूदियों के ऐसे कई पवित्र स्थल हैं जो पर्यटकों के बीच चर्चित रहते हैं। यहां के हेब्रोन और नब्लस की पहाड़ियां देखने के लायक हैं जो लॉकडाउन से पहले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रही हैं।

आमतौर पर फिलीस्तीनी दूर दराज के इन स्थलों पर जाने से बचते हैं। ऐसे में मलक हसन और बिसन अलहजहसन ने अपने ब्लॉग और इंस्टाग्राम के माध्यम से ‘अहलान पेलेस्टाइन’ नाम से पेज की शुरुआत की है। इसका मतलब होता है ‘हैलो पेलेस्टाइन’। इस पेज के माध्यम से ये दोनों ट्रेवल ब्लॉगर लोगों को ट्रेवल डेस्टिनेशन से जुड़ी जानकारी देती हैं। साथ ही वे कब और कहां जाए, इसे बारे में जानकारी भी देते हैं।

मलक और बिसन वेस्ट बैंक के पास आर्कियोलॉजिकल साइट पर सेल्फी लेते नजर आ रही हैं। ये दोनों यंग ब्लॉगर खूबसूरत साइट की तस्वीरें अपने इंस्टाग्राम पेज पर अपलोड करती हैं ताकि दूसरे लोग भी यहां जाने के बारे में विचार करें।

इन दोनों ने मिलकर मई में अपने पेज की शुरुआत की थी। फिलहाल उनके 5,600 फॉलोअर्स हैं। वे चाहती हैं कि कोरोना के प्रभाव से जब इंटरनेशनल ट्रेवलिंग पर प्रतिबंध हैं, ऐसे में पेलेस्टियंस को लोकल डेस्टिनेशंस की सैर करना चाहिए।

इस इमेज को शेयर करते हुए इन दोनों ने लिखा – ”इस वक्त हम दोनों आर्टासा गांव में हैं। इस गांव के बारे में हमने पहले भी बहुत सुना था। वैसे भी ये हफ्ता हमारे लिए खास है क्योंकि इस दौरान हमें यहां आने का मौका मिला। ये गांव बेथलेहम क्षेत्र में है”।

इस गांव की खूबसूरती का अंदाजा ट्रेवल ब्लॉगर्स द्वारा अपलोड की गई इस फोटो को देखकर लगाया जा सकता है। इसका यूनिक आर्किटेक्चर तारीफ के काबिल है। यहां जाने का सबसे अच्छा समय सुबह 7 बजे से लेकर शाम को 5 बजे तक है। इसकी सुंदरता देखने के लायक है।

इन दोनों को इस बात की खुशी है कि इनके एक छोटे से प्रयास से यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या बढ़ी है। एक दुकान के मालिक ने इस बारे में जब बिसेन को बताया तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। वे कहती हैं – ”हम दोनों की कोशिश से अंजान टूरिस्ट प्लेस के बारे में लोगों की जानकारी बढ़ी है”।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *