बंगाल में ऑडियो वॉर: BJP बोली- ममता ने हमारे नेता को फोन कर समर्थन मांगा; TMC ने मुकुल रॉय का टेप जारी कर EC से साठगांठ का आरोप लगाया

  • Hindi News
  • National
  • BJP’s Claim Mamata Sought Support By Calling Party Worker In Nandigram; Trinamool Released Mukul Roy’s Tape And Accused Of Connivance With Election Commission

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाता22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पश्चिम बंगाल में BJP और TMC के बीच शनिवार को ऑडियो वॉर सामने आया। सबसे पहले भाजपा ने एक ऑडियो जारी कर दावा किया कि नंदीग्राम में उनकी पार्टी के एक कार्यकर्ता को तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने फोनकर पार्टी में वापस आने का न्योता दिया। साथ ही उन्होंने नंदीग्राम चुनाव में सहयोग की अपील भी की।

इसके बाद देर शाम TMC ने भी पलटवार करते हुए भाजपा नेता मुकुल रॉय और शिशिर बाजोरिया का एक ऑडियो जारी कर चुनाव आयोग से साठगांठ का आरोप लगाया।

भाजपा नेता ने कहा- ममता ने नंदीग्राम के लिए मांगी मदद
भाजपा उपाध्यक्ष प्रलय पाल ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुद कॉल करके उनसे नंदीग्राम में मदद मांगी है। पाल ने आगे बताया कि शनिवार सुबह मुख्यमंत्री ने उन्हें कॉल किया और उन्होंने तृणमूल को जीत दिलाने में मदद करने को कहा था। बता दें कि नंदीग्राम से खुद ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं। भाजपा की ओर से कभी दीदी के खास रहे शुभेंदु अधिकारी मैदान में हैं।

वहीं, भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि ममता अब दिवालिया हो गई हैं। वह मेरे कार्यकर्ताओं को फोन क्यों कर रही हैं। उन्हें हार का डर अभी से सताने लगा है। भाजपा के आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने ये ऑडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया।

TMC का पलटवार-भाजपा के कहने पर आयोग ने नियम बदले
भाजपा के ऑडियो क्लिप जारी करने के बाद TMC ने भी पलटवार करते हुए भाजपा नेताओं का कथित ऑडियो टेप जारी किया। TMC का आरोप है कि ऑडियो क्लिप में भाजपा नेता मुकुल रॉय और एक अन्य नेता शिशिर बाजोरिया के बीच बातचीत है। दोनों चुनाव आयोग से साठगांठ की बात कर रहे हैं। मुकुल रॉय शिशिर को कहते हैं कि उन्हें चुनाव आयोग से मिलकर कुछ नियमों में बदलाव कराना चाहिए ताकि बूथ पर एजेंट सिर्फ लोकल व्यक्ति ही ना हो, कोई भी आदमी एजेंट बन सके।

TMC का दावा है कि इस चर्चा के मुताबिक ही चुनाव आयोग ने दूसरे दिन किया भी। TMC ने आरोप लगाया कि भाजपा ने चुनाव आयोग के सामने एक प्रजेंटेशन दिया और आयोग ने ये नियम भाजपा के पक्ष में बदल दिया। आयोग ने इसके लिए किसी दूसरी राजनीतिक पार्टियों से चर्चा भी नहीं की।

नोट- Bhaskar.com इन दोनों ऑडियो की पुष्टि नहीं करता।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *