बीमा कंपनी की ठगी: ICICI प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस की मिस सेलिंग, ग्राहकों को लौटाए 2.93 करोड़ रुपए

  • Hindi News
  • Business
  • Life Insurance Scam Update; ICICI Prudential Returned 2.93 Crore Rupees To Policyholders

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कुछ मामलों में बीमा कंपनी ने प्रोडक्ट को ही बदल दिया। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक को शिकायत मिली थी कि FD की जगह पर बीमा प्रोडक्ट बेच दिया गया। इसमें ग्राहक से 2 लाख रुपए का प्रीमियम लिया गया। हालांकि बाद में इसे ग्राहक को लौटा दिया गया

  • ICICI प्रूडेंशियल लाइफ ने 254 मामलों में पैसा लौटाया
  • 23 मामलों में उसने पैसा लौटाने से मना कर दिया

मुंबई- ICICI प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस ने बड़े पैमाने पर पॉलिसियों की बिक्री में मिस सेलिंग की है। इस वजह से उसने ग्राहकों को 2.93 करोड़ रुपए वापस लौटाए हैं। जबकि कुछ ग्राहकों को उसने पैसे लौटाने से मना कर दिया।

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बीमा रेगुलेयर इंश्योरेंस रेगुलेटरी अथॉरिटी एंड डेवलपमेंट (IRDAI) को पिछले 7 सालों में कुल 316 शिकायतें मिली थीं। इसमें 259 पॉलिसीधारकों ने शिकायतें की थीं।

रिजर्व बैंक को मिली थी शिकायत

ठाकुर ने कहा कि रिजर्व बैंक ने भी इसी तरह की एक शिकायत बताई थी। इसमें इंश्योरेंस पॉलिसी को FD की जगह पर बेच दिया गया था। उन्होंने कहा था कि वित्त मंत्रालय ने रिजर्व बैंक और IRDAI से मिली शिकायतों के आधार पर यह जानकारी तैयार की है। ICICI प्रूडेंशियल लाइफ ने इस दौरान 254 मामलों में 2.93 करोड़ रुपए लौटाए हैं। 23 मामलों में उसने पैसा लौटाने से मना कर दिया था।

बीमा कंपनी ने प्रोडक्ट ही बदल दिया

ठाकुर ने बताया कि कुछ मामलों में बीमा कंपनी ने प्रोडक्ट को ही बदल दिया। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक को शिकायत मिली थी कि FD की जगह पर बीमा प्रोडक्ट बेच दिया गया। इसमें ग्राहक से 2 लाख रुपए का प्रीमियम लिया गया। हालांकि बाद में इसे ग्राहक को लौटा दिया गया।

मिस-सेलिंग रोकने के लिए दिशा निर्देश

IRDAI के नियमों के मुताबिक, रिजर्व बैंक ने बीमा प्रोडक्ट की मिस सेलिंग को रोकने के लिए सही दिशा निर्देश जारी किया है। इसके तहत अगर कोई बैंक है तो वह बीमा कंपनियों की पॉलिसी बेचने के तहत नियमों का पालन करेगा। इसके तहत स्टैंडर्डाइज्ड सिस्टम बनाया गया है। इसमें शिकायतों को निपटाने के लिए बेहतर मैकेनिज्म होना चाहिए। इसमें ग्राहक को मुआवजे की नीतियों के तहत बोर्ड को मंजूर करना चाहिए।

जनरल इंश्योरेंस ने भी की मिस-सेलिंग

ICICI ग्रुप की जनरल बीमा कंपनी ने भी इसी तरह से मिस सेलिंग की है। 13 जनवरी 2020 को कंपनी ने धर्मेंद्र प्रताप सिंह को और उनके परिवार को हेल्थ की पॉलिसी दी। इसमें बेस के साथ टॉप अप भी था। पॉलिसी के लिए 30 हजार रुपए लिए गए। कंपनी ने पॉलिसी में दो नाम और उम्र में गलती कर दी। पिछले एक साल से धर्मेंद्र प्रताप इस गलती को सुधारने के लिए कंपनी के संपर्क में थे।

पॉलिसी रिन्युअल में बढ़ गया 30 पर्सेंट प्रीमियम

इसी बीच इस साल जनवरी में कंपनी की ओर से धर्मेंद्र सिंह को फोन आया कि पॉलिसी का रिन्युअल है। उन्होंने कंपनी के कहने पर पॉलिसी रिन्युअल के लिए 40 हजार रुपए दिए। कंपनी ने एक साल पहले की तुलना में प्रीमियम में 30 पर्सेंट की बढ़ोत्तरी कर दी। 4 फरवरी को कंपनी को प्रीमियम मिलता है। पॉलिसी की तारीख 13 फरवरी दी जाती है।

अब वापस कंपनी 9,500 रुपए मांग रही है

अब जब वापस धर्मेंद्र सिंह ने बात की तो कंपनी ने कहा कि उन्हें 9,500 रुपए और देने होंगे। कंपनी ने कहा कि ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रैकेट बदल गया, फीचर और जोड़ दिए गए हैं। दिसंबर में रेट बदल गए। हो सकता है कि मेंटल डिसऑर्डर हो जाए। इस तरह से कई कारण कंपनी ने बताया। लेकिन इन सब चीजों की जानकारी कभी कंपनी ने ग्राहक को नहीं दी। यहां तक कि रिन्युअल के समय पैसे लेने पर भी जानकारी नहीं दी और अब इसके लिए 9 हजार मांग रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *