म्यांमार के साथ अमेरिका का ट्रेड बंद: US ने कहा- जब तक म्यांमार में लोकतंत्र नहीं आ जाता व्यापार नहीं करेंगे; ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया सहित 12 देश भी विरोध में उतरे

  • Hindi News
  • International
  • US Suspends All Trade With Myanmar । Elected Government Of Myanmar । State Counsellor Aung San Suu Kyi । US Trade Representative Katherine । US Trade Engagement With Myanmar । 2013 Trade And Investment Framework Agreement

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटन3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

म्यांमार में सेना की हिंसा पर अमेरिका ने कड़ी टिप्पड़ी की है। US ने कहा है कि वो लोकतंत्र के लिए प्रदर्शन कर रहे म्यांमार के लोगों के साथ खड़ा है।

म्यांमार में सेना की बढ़ती बर्बरता पर यूनाइटेड स्टेट अमेरिका (US) ने सख्ती दिखाई है। US ने म्यांमार के साथ तब तक ट्रेड (व्यापार) न करने का का फैसला लिया है, जब तक वहां लोकतंत्र की वापसी नहीं हो जाती है। इसके साथ ही 12 देशों के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) ने भी म्यांमार की सेना का विरोध किया है।

अमेरिका की ट्रेड रिप्रेजेंटेटिव कैथरिन टाई ने सोमवार को बताया कि म्यांमार पर ये कार्रवाई 2013 के ट्रेड एग्रीमेंट को आधार बनाकर की गई है। उन्होंने कहा कि हम म्यांमार के उन लोगों का समर्थन करते हैं, जो लोकतंत्र वापस लाने की कोशिश में दिन-रात लगे हुए हैं। हम म्यांमार के आम लोगों पर अत्याचार करने वाली वहां की सेना की निंदा करते हैं।

टाई ने कहा कि म्यांमार में शांतिप्रिय आंदोलनकारी, छात्र, मजदूर नेता और बच्चों को मारा जा रहा है। इन घटनाओं से इंटरनेशनल कम्युनिटी परेशान है। म्यांमार के खिलाफ कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाकर हम वहां के लोगों का साथ देना चाहते हैं।

CDS ने म्यांमार के खिलाफ जारी किया स्टेटमेंट
12 देशों के CDS ने म्यांमार की सेना के खिलाफ सामूहिक स्टेटमेंट जारी किया है। स्टेटमेंट जारी करने वाले देशों में अमेरिका के अलावा ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जर्मनी, ग्रीस, इटली, जापान, डेनमार्क, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, साउथ कोरिया और ब्रिटेन भी शामिल हैं। स्टेटमेंट में कहा गया कि CDS होने के नाते हम म्यांमार की सेना की निंदा करते हैं।

शनिवार को म्यांमार की आर्मी ने 114 लोगों की हत्या कर दी। इसके बाद बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी थाइलैंड में प्रवेश करने लिए, जिसे देखते हुए थाइलैंड की पुलिस ने बॉर्डर पर तार फेंसिंग शुरू कर दी।

शनिवार को म्यांमार की आर्मी ने 114 लोगों की हत्या कर दी। इसके बाद बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी थाइलैंड में प्रवेश करने लिए, जिसे देखते हुए थाइलैंड की पुलिस ने बॉर्डर पर तार फेंसिंग शुरू कर दी।

अब तक 459 आम नागरिकों की मौत
म्यांमार में अब तक 459 आम नागरिक सेना से संघर्ष करते समय मारे जा चुके हैं। सबसे ज्यादा विरोध वहां के कचिन और दवेई राज्य में हो रहा है। म्यांमार में शनिवार काला दिन बनकर सामने आया था, जब एक ही दिन सेना ने 114 आम नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया था।

सेना की इस कार्रवाई में एक 13 साल का बच्चा भी मारा गया था। घटना के समय बच्चा अपने घर में था, तभी म्यांमार की सेना ने वहां ओपन फायरिंग शुरू कर दी और बच्चा भी उनकी गोलियों का शिकार हो गया। म्यांमार की आर्मी ने 1 फरवरी को स्टेट इमरजेंसी डे घोषित किया था। इसके तुरंत बाद वहां की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की को गिरफ्तार कर नजरबंद कर दिया गया।

म्यांमार के कचिन स्टेट में सबसे ज्यादा प्रदर्शन हो रहा है। यहां सेना प्रदर्शनकारियों का दमन भी तेजी से कर रही है। तस्वीर में सेना से अपने परिवार को छोड़ देने का आग्रह करती महिला।

म्यांमार के कचिन स्टेट में सबसे ज्यादा प्रदर्शन हो रहा है। यहां सेना प्रदर्शनकारियों का दमन भी तेजी से कर रही है। तस्वीर में सेना से अपने परिवार को छोड़ देने का आग्रह करती महिला।

म्यांमार की आर्मी ने जब लोगों पर ओपन फायरिंग शुरू की तो लोग जंगल के रास्ते थाइलैंड भागने लगे, लेकिन थाइलैंड से भी उन्हें खदेड़ दिया गया।

म्यांमार की आर्मी ने जब लोगों पर ओपन फायरिंग शुरू की तो लोग जंगल के रास्ते थाइलैंड भागने लगे, लेकिन थाइलैंड से भी उन्हें खदेड़ दिया गया।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *