सांसद सिग्रिवाल के खाते से उड़ाए 89 लाख: फर्जी तरीके से पहली बार 42 लाख और दूसरी बार 47 लाख भेजे गए महाराष्ट्र के बैंक में

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News, Clone Cheques Update; Rs 89 Lakh Missing From Development Fund Of BJP MP Sigriwal

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटनाएक मिनट पहलेलेखक: अमित जायसवाल

  • कॉपी लिंक

महाराजगंज से BJP सांसद हैं जनार्दन सिंह सिग्रीवाल।

  • 2 महीने पहले हुआ था फर्जीवाड़ा, महाराष्ट्र के अहमदनगर से एक शातिर को पकड़ा गया
  • NHAI फंड से जालसाजी मामले में 3 लोगों की अब तक हुई है गिरफ्तारी

बैंकों में पड़े सरकारी रुपयों पर जालसाजों की कड़ी नजर है। गुपचुप तरीके से जालसाज सरकारी रुपयों की निकासी कर ले रहे हैं। इसके लिए कभी क्लोन चेक का इस्तेमाल किया जा रहा है तो कभी फर्जी तरीके से RTGS का। 3 जनवरी को ही भास्कर ने पटना में नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के कोटक महिंद्रा बैंक अकाउंट से 11.37 करोड़ रुपए के फर्जी RTGS किए जाने के मामले का खुलासा किया था। अब नया मामला बिहार के ही सारण जिले से आ गया है। महाराजगंज से भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल के डेवलपमेंट फंड में सेंधमारी कर दी गई है। फर्जी तरीके से सरकारी फंड में रखे 89 लाख रुपए निकाल लिए गए हैं।

महाराष्ट्र के अहमदनगर के अकाउंट में किया गया ट्रांसफर
फर्जीवाडे़ के इस वारदात को अंजाम देने के लिए शातिरों ने क्लोन चेक का सहारा लिया है। जब से यह मामला सामने आया, उसके बाद से हड़कंप मचा हुआ है। भाजपा सांसद के डेवलपमेंट फंड का अकाउंट छपरा के हथुआ बाजार के समीप बैंक आफ बड़ौदा के मेन ब्रांच में है। अकाउंट नंबर 12380100016890 से पिछले साल 4 नवंबर को RTGS के जरिए दो ट्रांजेक्शन किए गए। पहली बार में 42 लाख और दूसरी बार में 47 लाख रुपए ट्रांसफर किए गए। आशंका है कि इसके लिए क्लोन चेक और फर्जी सिग्नेचर का इस्तेमाल किया गया। इन रुपयों को महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के बैंक आफ बड़ौदा के ही अकाउंट में भेजा गया। यह अकाउंट संदीप मांगीलाल कोठारी नाम के व्यक्ति का है। मामला सामने आने के बाद पुलिस से कंप्लेन की गई। तेजी से कार्रवाई करते हुए संदीप मांगीलाल कोठारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अब इससे पूछताछ के बाद ही नए खुलासे होने की संभावना है।

इस तरह से सामने आया मामला
यह मामला तब सामने आया जब 3 फरवरी को डेवलपमेंट वर्क की एक योजना के तहत ठेकेदार को रुपए देने थे। चेक के जरिए जब ठेकेदार पेमेंट लेने गया तो उसे बैंक ने होल्ड पर डाल दिया। उस अकाउंट में पर्याप्त रुपए नहीं थे। इस कारण बैंक ने पेमेंट करने से मना कर दिया। तब यह बात दिल्ली में मौजूद सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल तक पहुंची। इसके बाद उन्होंने जिला योजना पदाधिकारी से बात की। जिसके बाद फर्जी निकासी का मामला सामने आया। इस बारे में जानकर सांसद के भी होश उड़ गए। तब उन्होंने सबसे पहले इसकी जानकारी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को दी। इनके निर्देश पर ही महाराष्ट्र पुलिस ने कार्रवाई कर अहमदनगर से अकाउंट होल्डर को पकड़ा। अब इस मामले पर केंद्रीय गृह सचिव ने बिहार के मुख्य सचिव से डिटेल रिपोर्ट मांगी है। इसके लिए सारण जिले के डीएम खुद से पूरे मामले की जांच करने में जुट गए हैं। सांसद ने इस फर्जीवाड़े की जानकारी लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और बैंक ऑफ बड़ौदा के सीएमडी को लिखित रूप से दे दी है।

सांसद को इन पर है शक
इस मामले पर सांसद से बात की गई। उन्हें शक है कि फर्जीवाड़ा के इस कांड को कई लोगों ने मिलकर अंजाम दिया है। इस कांड में जिला योजना पदाधिकारी, बैंक मैनेजर और कई सीनियर अधिकारी की मिली भगत हो सकती है। यह साधारण अपराध नहीं है। इसकी जांच बड़े लेवल पर होनी चाहिए। दोषियों को जल्द पकड़ा जाना चाहिए। इस तरह के अपराध के इलाके का डेवलपमेंट वर्क प्रभावित होता है। इस बारे में मैंने कंप्लेन कर दी है। दूसरी तरफ जिला योजना पदाधिकारी विधानचंद्र राय ने कहा कि इस मामले में टाउन थाना में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। बैंक ने रुपया रिकवर करने लेने का आश्वासन दिया है। विभागीय जांच चलने के कारण मामले की जानकारी सांसद को नहीं दी गई थी।

NHAI फंड से जालसाजी मामले में क्या हुआ
NHAI फंड से जालसाजी मामले में कोटक महिंद्रा बैंक के बोरिंग रोड ब्रांच मैनेजर सुमित सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। पुलिस की जांच में और भी कई खुलासे हुए। इस केस की जांच अभी चल ही रही है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *