हारेगा कोरोना: वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू, डीएम ने लिया पहला डोज

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बक्सरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • सदर अस्पताल में डीएम अमन समीर ने टीकाकरण सत्र का लिया जाएजा

एक वर्षों में कोविड-19 के नाम से काले अध्यायों में दर्ज कोरोना वायरस अब अंतिम सासें ले रहा है। बहुत जल्द ही जिले के लोग कोरोना को हरा देंगे। कोरोना पर जीत हासिल करने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य समिति के संयुक्त तत्वावधान में अभियान शुरू किया गया है। इसके लिए जिले में दूसरे चरण के तहत टीकाकरण अभियान की शुरुआत शनिवार को सदर अस्पताल में हुई।

दूसरे चरण में लोगों को प्रेरित करने के लिए जिलाधिकारी अमन समीर ने सबसे पहले टीके का पहला डोज लिया। उसके बाद ओएसडी देवेंद्र प्रताप साही, डीटीओ मनोज कुमार रजक, डीपीआरओ कन्हैया कुमार आदि प्रशासनिक अधिकारियों ने भी टीका लेकर लोगों को जागरूकता सन्देश दिया।
मौके पर जिलाधिकारी अमन समीर ने कहा कोविड-19 के खिलाफ स्वदेश में निर्मित यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। पूरे परीक्षण व जांच के बाद ही लोगों को चरणवार टीकाकृत किया जा रहा है।
86 % रजिस्टर्ड कर्मी टीकाकृत
पहले चरण के दौरान 86 प्रतिशत रजिस्टर्ड स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका दिया गया। इस क्रम में जिले में कहीं से भी किसी को परेशानी होने की सूचना नहीं मिली। जो एक अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा कि टीका लेना हम सब का कर्तव्य है। मौके पर सीएस डॉ. जितेंद्र नाथ, डीआईओ डॉ. राज किशोर सिंह, डीपीएम संतोष कुमार, सदर एमओआईसी सुधीर कुमार समेत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।
गाइड लाइंस के तहत चलेगा अभियान

सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र नाथ ने बताया जिले में प्रथम चरण के तहत टीका टीकाकरण का अभियान में बक्सर का दूसरा स्थान रहा। दूसरे चरण में बक्सर जिले को पहले पायदान दिलाने पिलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम काम कर रही है। इसके लिए सरकार व विभाग के द्वारा जारी गाइडलाइंस के तहत टीकाकरण सत्रों का संचालन किया जाएगा। फिलहाल विभाग के द्वारा जिले में से एक सत्र स्थल बनाने का निर्देश दिया गया था। जिसके कारण सदर अस्पताल में ही टीकाकरण सत्र स्थल बनाया गया।

फ्रंट लाइन वर्कर्स को दिया जाएगा टीका: डीआईओ डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया दूसरे चरण के तहत सदर अस्पताल में फ्रंटलाइन वर्करों को टीका दिया जाएगा। टीका देने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों की एक टीम मौजूद है, जो मानक के मुताबिक लाभुकों को टीका लगा रही है। सरकार के निर्णय के अनुसार टीकाकरण के लिए फ्रंटलाइन वर्कर में नगर निगम या नगर पालिका के कर्मचारी, पंचायती राज विभाग के कर्मचारी, पुलिसकर्मी और अन्य सरकारी विभाग के कर्मचारी को शामिल किया गया हैं। इन लोगों को टीका देने के बाद 30 मिनट तक निगरानी की जा रही है। 28 दिनों के बाद दोबारा इन लोगों को टीका का दूसरा डोज दिया जाएगा।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *