100 करोड़ की घूस का आरोप: परमबीर सिंह ने CBI जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई, इसमें गृह मंत्री देशमुख के खिलाफ कई गंभीर आरोप

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Parambir Singh Letter To Uddhav Thackeray | Ex mumbai Police Commissioner Parambir Singh Petition In Supreme Court

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

परंमबीर सिंह को पांच दिन पहले मुंबई के पुलिस कमिश्नर पद से हटा दिया गया था। परमबीर का आरोप है कि उन्हें एंटीलिया केस में बलि का बकरा बनाया जा रहा है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर पद से हटाए गए परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए रिश्वत के आरोपों की CBI जांच की मांग की है। इस संबंध में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को हाल ही में एक पत्र लिखा था। इसमें कहा गया था कि असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर (API) सचिन वझे को गृह मंत्री अनिल देशमुख का संरक्षण था और उन्होंने वझे से हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने को कहा था।

चिट्ठी में यह भी कहा गया कि अपने गलत कामों को छुपाने के लिए मुझे बलि का बकरा बनाया गया है। परमबीर सिंह ने याचिका में अपने आरोपों से जुड़े कई सबूत भी सुप्रीम कोर्ट को सौंपे हैं। बताया जा रहा है कि शीर्ष अदालत ने याचिका मंजूर कर ली है।

परमबीर ने चिट्ठी में लिखा- गृह मंत्री ने टारगेट दिया
चिट्ठी में परमबीर ने लिखा, ‘आपको बताना चाहता हूं कि महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वझे को कई बार अपने आधिकारिक बंगले ज्ञानेश्वर में बुलाया और फंड कलेक्ट करने के आदेश दिए। उन्होंने यह पैसे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नाम पर जमा करने के लिए कहा। इस दौरान उनके पर्सनल सेक्रेटरी मिस्टर पलांडे भी वहां पर मौजूद रहते थे। गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने का टारगेट दिया था।’

शरद पवार को भी इस मामले की जानकारी दी
परमबीर सिंह ने आगे लिखा, ‘मैंने इस मामले को लेकर डिप्टी चीफ मिनिस्टर अजीत पवार और NCP चीफ शरद पवार को भी ब्रीफ किया है। मेरे साथ जो भी घटित हुआ या गलत हुआ इसकी जानकारी मैंने शरद पवार को भी दी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *