after merger with Syndicate Financial institution Canara Financial institution reported Web revenue of Rs 406 crore within the june quarter 2020 | केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक के विलय के बाद पहली तिमाही में 406 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट

  • Hindi News
  • Business
  • After Merger With Syndicate Financial institution Canara Financial institution Reported Web Revenue Of Rs 406 Crore In The June Quarter 2020

नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केनरा बैंक ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि अप्रैल-जून तिमाही में बैंक की कुल आय 20,685.91 करोड़ रुपए रही

  • पहली अप्रैल 2020 को केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक का विलय हो गया
  • पिछले साल की जून तिमाही में केनरा बैंक ने 329.07 करोड़ का प्रॉफिट दिखाया था

केनरा बैंक ने बुधवार को कहा कि इस कारोबारी साल की पहली तिमाही में उसका स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 406.24 करोड़ रुपए रहा। यह प्रॉफिट केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक के विलय के बाद का है। पहली अप्रैल 2020 को दोनों बैंकों का विलय हुआ।

केनरा बैंक ने पिछले साल की समान तिमाही में 329.07 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट दिखाया था। बैंक का नेट प्रॉफिट 23.5 फीसदी बढ़ा है, लेकिन बैंक ने कहा कि दोनों साल के आंकड़ों की तुलना नहीं की जा सकती है। सिंडिकेट बैंक के विलय के बाद केनरा बैंक देश का तीसरा बड़ा सरकारी बैंक बन गया है।

तीसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक

पिछले साल की पहली तिमाही का प्रॉफिट सिर्फ केनरा बैंक का है, क्योंकि उस समय उसमें सिंडिकेट बैंक का विलय नहीं हुआ था। भारतीय स्टेट बैंक और पंजाब नेशनल बैंक के बाद अब केनरा बैंक देश का तीसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक है। चौथा स्थान बैंक ऑफ बड़ौदा का है।

पिछली साल की जून तिमाही में केनरा बैंक की आय 14,062.39 करोड़ रुपए थी

केनरा बैंक ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि अप्रैल-जून तिमाही में बैंक की कुल आय बढ़कर 20,685.91 करोड़ रुपए हो गई। एक साल पहले की समान तिमाही में बैंक की कुल आय 14,062.39 करोड़ रुपए थी।

ग्रॉस एनपीए बढ़कर 8.84% हुआ

30 जून को बैंक का ग्रॉस एनपीए मामूली बढ़ोतरी के साथ कुल कर्ज का 8.84 फीसदी हो गया। पिछले साल जून के अंत में यह 8.77 फीसदी था। एबसॉल्यूट वैल्यू में ग्रॉस एनपीए इस दौरान 39,399.02 करोड़ रुपए से बढ़कर 57,525.52 करोड़ रुपए हो गया।

विलय के बाद नेट एनपीए घटकर 3.95% हुआ

नेट एनपीए इस दौरान हालांकि गिरकर 3.95 फीसदी (24,355.23 करोड़ रुपए) रह गया, जो एक साल पहले की समान अवधि में 5.35 फीसदी (23,149.62 करोड़ रुपए) था। इस दौरान बैंक ने अपनी कुल प्रॉविजनिंग 1,899.13 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 3,826.34 करोड़ रुपए कर दी। इसमें से एनपीए की प्रॉविजनिंग 3,549.99 करोड़ रुपए है। बैंक के शेयर बीएसई पर 1.24 फीसदी गिरकर 103.15 रुपए पर बंद हुए।

आईसीआईसीआई बैंक का स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ अप्रैल-जून तिमाही में 36% बढ़कर 2,599 करोड़ रुपए रहा

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *