Chingari App Seed Funding| Funding of around Rs 9.75 crore raised after winning the self-sustaining App Innovation Challenge, now the company will spend to hire talent | आत्मनिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीतने के बाद जुटाई करीब 9.75 करोड़ रुपए की फंडिंग, अब टैलेंट हायर करने में खर्च करेगी कंपनी

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Chingari App Seed Funding| Funding Of Around Rs 9.75 Crore Raised After Winning The Self sustaining App Innovation Challenge, Now The Company Will Spend To Hire Talent

नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कंपनी के मुताबिक, टिकटॉक बैन होने के 22 दिन के अंदर ऐप को 1 करोड़ 10 लाख बार डाउनलोड किया गया था

  • भारत में बनी शार्ट वीडियो शेयरिंग ऐप चिंगारी ने यह फंडिंग सीड राउंड में जुटाई है
  • चाइनीज ऐप टिक टॉक के बैन होने के बाद चिंगारी ऐप को लोगों ने तेजी से अपनाया था

देसी सोशल मीडिया ऐप चिंगारी जल्द ही और बेहतर तरीके से भारतीय बाजार में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाली है। कुछ दिन पहले ही कंपनी ने आत्मनिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीता और अब कंपनी एंजेलिस्ट इंडिया, आईसिड, विलेज ग्लोबल, लॉगएक्स वेंचर और अन्य से 1.3 मिलियन डॉलर (करीब 9 करोड़ 75 लाख रुपए) की सीड फंडिंग जुटाने में कामयाब रही। टिकटॉक का स्वदेशी विकल्प के रूप में जानी जाने वाली शार्ट वीडियो शेयरिंग ऐप चिंगारी ने यह फंडिंग सीड राउंड में जुटाई है। इस राउंड का नेतृत्व प्रतिष्ठित वेंचर कैपिटिलिस्ट ने किया, जिनमें एंजेलिस्ट इंडिया, उत्सव सोमानी के आईसीड, विलेज ग्लोबल, लॉगएक्स वेंचर्स और नाउफ्लोट्स के जसमिंदर सिंह गुलाटी शामिल थे।

टेलेंट हायर करने में उपयोग खर्च करेंगे पैसा – सुमित घोष (सीईओ, चिंगारी ऐप)
कंपनी इस फंडिंग का उपयोग प्रोडक्ट डेवलपमेंट में तेजी लाने के लिए और इसे अधिक आकर्षक और कंज्यूमर फोकस्ड बनाने के लिए टैलेंट हायर करने में करेगी। ताकि एक सहज शार्ट वीडियो एंटरटेनमेंट एक्सपीरियंस प्रदान करके एक बड़ा कंज्यूमर बेस तैयार किया जा सके।
चिंगारी ऐप के को-फाउंडर और सीईओ सुमित घोष ने कहा, हम एंजेलिस्ट इंडिया, उत्सव सोमानी के आईसीड, विलेज ग्लोबल और इसकी आंत्रप्रेन्योर के अद्भुत नेटवर्क और ग्लोबल लीडर्स, लॉगएक्स वेंचर्स जैसे निवेशकों के लिए खुश हैं। हमें खुशी है कि निवेशकों ने हमारे विजन में अपार संभावनाएं देखीं और चिंगारी यात्रा में शामिल होना चुना।

एंजेलिस्ट इंडिया के पार्टनर उत्सव सोमानी ने कहा, सुमित और टीम चिंगारी ने दिखाया है कि किस तरह से प्रोडक्ट के फीचर्स को इतनी तेजी से शिप किया जाता है। उनके कान जमीन पर हैं, उपयोगकर्ताओं को सुन रहे हैं और सभी चैनलों पर उनके साथ अनुवाद कर रहे हैं ताकि भारत की मांग करने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे अच्छा लघु वीडियो सामग्री अनुभव हो।

विलेज ग्लोबल ने आत्म निर्भर भारत ऐप चैलेंज जीतने के लिए ट्विटर पर चिंगारी टीम को बधाई दी

नाउफ्लोट्स के फाउंडर, जसमिंदर सिंह गुलाटी ने कहा, जबकि चिंगारी ब्रेकनेक गति से बढ़ी है, यह भी सुझाव देता है कि भारत में हमेशा हमारे स्वयं के निर्माण की क्षमता है। चिंगारी ने आत्मनिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीतने के साथ, हम होममेड प्रोडक्ट को अपनाने के मामले में एक महत्वपूर्ण बिंदु पर पहुंच गए हैं।

टिकटॉक के बैन के बाद सुर्खियों में आई चिंगारी ऐप
चाइनीज ऐप टिक टॉक के बैन होने के बाद चिंगारी ऐप को लोगों ने तेजी से अपनाया। कंपनी के मुताबिक, टिकटॉक बैन होने के 22 दिन के अंदर ऐप को 1 करोड़ 10 लाख बार डाउनलोड किया गया था।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *