India China Stress Newest Information Replace; India China Stress Newest Information, India China Stress, India China Conflict, Line Of Precise Management (LAC) | भारत ने कहा- चीन को हमारे आंतरिक मामलों में टिप्पणी का हक नहीं; चीन ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने को गैरकानूनी कहा था

  • Hindi News
  • National
  • India China Stress Newest Information Replace; India China Stress Newest Information, India China Stress, India China Conflict, Line Of Precise Management (LAC)

नई दिल्‍ली27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गलवान में चीन और भारतीय सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। (सिम्बोलिक फोटो)

  • चीन ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर की यथास्थिति में कोई भी एकतरफा बदलाव गैर-कानूनी और ठीक नहीं
  • भारत-चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को लेकर चल रहा है तनाव, दोनों देशों में हो रही हैं बैठकें

भारत ने जम्मू-कश्मीर के बारे में चीन की टिप्पणी को खारिज करते हुए दो टूक जवाब दिया है। भारत ने बुधवार को चीन को आगाह किया कि उसे भारत के आंतरिक मामलों में टिप्पणी करने का कोई हक नहीं है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि हमने चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की जम्मू-कश्मीर को लेकर की गई टिप्पणी को गंभीरता से लिया है। चीन का इस विषय में टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। हमारी ओर से उन्हें यह सलाह दी जाती है कि वे अन्य देशों के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करें।

भारत सरकार ने पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था। इसके बाद जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया गया था।

चीनी विदेश मंत्रालय ने बताया था गैर-कानूनी
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बीजिंग में कहा था कि जम्मू-कश्मीर की यथास्थिति में कोई भी एकतरफा बदलाव गैर-कानूनी और ठीक नहीं है। कश्मीर मुद्दे पर चीन का स्टैंड साफ है। उन्होंने इसके three कारण बताए।

  1. भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर के मुद्दे पर लंबे समय से विवाद चल रहा है। जो कि यूएन चार्टर और उससे संबंधित सिक्योरिटी काउंसिल में विचाराधीन है।
  2. कश्मीर क्षेत्र की यथास्थिति में कोई भी एकतरफा बदलाव अवैध और ठीक नहीं है।
  3. कश्मीर क्षेत्र का मुद्दा आपसी बातचीत के जरिए शांतिपूर्वक हल होना चाहिए।

गलवान में हिंसक झड़प के बाद बढ़ गया था तनाव
गलवान में चीन और भारतीय सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। वहीं, चीन के 40 से ज्यादा जवान मारे गए थे। हालांकि, चीन ने ये कबूला नहीं था। इसके बाद से दोनों देशों के बीच मिलिट्री और डिप्लोमैटिक लेवल पर बातचीत चल रही है।

ये भी पढ़ सकते हैं…

लद्दाख में लंबे टकराव के लिए सेना तैयार, भारतीय जवान भरपूर राशन, खास कपड़ों और स्पेशल आर्कटिक टेंट्स के साथ तैनात, क्योंकि चीनी सैनिकों के पीछे हटने की प्रोसेस संतोषजनक नहीं

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *