Narendra Modi | Uttarakhand Girl Environmental Activist Writes To Prime Minister Narendra Modi; Ridhima Pandey Says Think About Our Future | पॉल्यूशन पर हरिद्वार की रिद्धिमा ने लिखा- हमारे भविष्य के बारे में सोचिए, कुछ नहीं किया तो हमें ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर चलना पड़ेगा

  • Hindi News
  • National
  • Narendra Modi | Uttarakhand Girl Environmental Activist Writes To Prime Minister Narendra Modi; Ridhima Pandey Says Think About Our Future

नई दिल्ली21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रिद्धिमा ने कहा कि अक्टूबर के बाद देश के कई हिस्सों में सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है।

  • पर्यावरण एक्टिविस्ट हैं रिद्धिमा, पहले इंटरनेशनल क्लीन एयर डे फॉर ब्लू स्काई के मौके पर लिखा खत
  • रिद्धिमा ने लिखा- हवा इतनी प्रदूषित है कि उसके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ स्कूल जाना एक बुरा सपना होगा

पहले इंटरनेशनल क्लीन एयर डे फॉर ब्लू स्काई के अवसर पर 12 साल की पर्यावरण एक्टिविस्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखा है। शुद्ध हवा की मांग करते हुए उसने लिखा कि अगर कुछ नहीं किया गया, तो एक दिन सभी को ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर चलना पड़ेगा। रिद्धिमा उत्तराखंड के हरिद्वार की रहने वाली हैं।

रिद्धिमा ने प्रधानमंत्री को लिखा- यह निश्चित करें कि ऑक्सीजन सिलेंडर बच्चों की जिंदगी का एक अहम हिस्सा न बनने पाए, जिसे भविष्य में हमें अपने कंधों पर लेकर चलना पड़े। हवा इतनी प्रदूषित है कि उसके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ स्कूल जाना एक बुरे सपने जैसा है। मुझे चिंता है कि अगर मेरे जैसे 12 साल के बच्चे को सांस लेने में मुश्किल होती है, तो दिल्ली या अन्य शहरों में रहने वाले बच्चों पर इसका क्या असर पड़ता होगा।

हर साल भारत के कई हिस्सों में हवा बहुत प्रदूषित हो जाती है और अक्टूबर के बाद तो सांस लेना बहुत मुश्किल हो जाता है। हमें इस बारे में सोचना होगा और कुछ करना होगा। घने शहरों में हवा बहुत ही ज्यादा प्रदूषित है। वहां रहने वाले लोगों के लिए यह बहुत ही खतरनाक है। इससे उनके सामने स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं पैदा होती हैं।

हमारे प्रधानमंत्री के तौर पर आपने जलवायु परिवर्तन को एक वास्तविकता के रूप में स्वीकार किया है। देश के सभी बच्चों की ओर से आज इंटरनेशनल क्लीन एयर डे फॉर ब्लू स्काई पर मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहती हूं कि कृपया हमारे भविष्य के बारे में सोचें। आप अधिकारियों को सभी नियम और कानून सख्ती से लागू करने के लिए कहें, ताकि भारत के नागरिक साफ हवा में सांस ले सकें।

यूएन ने पिछले साल लिया क्लीन एयर डे मनाने का फैसला

पिछले साल संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली ने अपने 74वें सत्र के दौरान इंटरनेशनल क्लीन एयर डे फॉर ब्लू स्काई मनाने का फैसला किया था। इसका मकसद व्यक्ति, समुदाय, कॉर्पोरेट और सरकार सभी को साफ और शुद्ध हवा की अहमियत के बारे जागरूक करना है।

भारत वायु प्रदूषण से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला देश है
इंटरनेशनल फोरम फॉर एन्वायर्नमेंट, सस्टनेबिलिटी एंड टेक्नोलॉजी (आई-फॉरेस्ट) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंद्रभूषण बताते हैं कि क्लीन एयर डे की अहमियत भारत के लिए सबसे ज्यादा है। भारत एयर पॉल्यूशन से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला देश है। आंकड़े बताते हैं कि देश में आज 90 करोड़ टन कोयला, 40 करोड़ टन बायोमास, 20 करोड़ टन तेल और 5 करोड़ टन गैस की ऊर्जा की खपत होती है।

ये भी पढ़ सकते हैं…

प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई का आगाज, आज पहली बार मनाया जाएगा इंटरनेशनल क्लीन एयर डे फॉर ब्लू स्काई; विशेषज्ञ बोले- भारत के लिए इसका महत्व ज्यादा

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *