Rajnath Singh Said that Non-aggression, peaceful resolution of differences imperative for regional peace | राजनाथ और चीन के रक्षा मंत्री के बीच बैठक शुरू; राजनाथ ने चीन का नाम लिए बगैर कहा- शांति के लिए आक्रामक तेवर ठीक नहीं

  • Hindi News
  • International
  • Rajnath Singh Said That Non aggression, Peaceful Resolution Of Differences Imperative For Regional Peace

मॉस्को6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एससीओ की रीजनल एंटी-टेररिज्म स्ट्रक्चर (RATS) के काम को सराहा। वह 3 दिन के रूस दाैरे पर हैं।

  • राजनाथ सिंह ने एससीओ की रीजनल एंटी-टेररिज्म स्ट्रक्चर (RATS) के काम को सराहा
  • रूस ने पाकिस्तान को किसी भी तरह के हथियार की सप्लाई नहीं करने की अपनी पॉलिसी दोहराई

रूस दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंग्हे के बीच बैठक शुरू हो गई है। सूत्रों के हवाले से यह खबर आई थी कि राजनाथ और फेंग्हे की मुलाकात आज रात भारतीय समय के मुताबिक रात साढ़े नौ बजे हो सकती है। इससे पहले राजनाथ ने मॉस्को एससीओ-सीएसटीओ-सीआईएस मेंबर्स की ज्वाइंट मीटिंग को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गेनाइजेशन (एससीओ) रीजन में सुरक्षा और स्थिरता के लिए भरोसे का माहौल, गैर-आक्रामकता, इंटरनेशनल नियमों का सम्मान और मतभेदों का शांतिपूर्ण समाधान बेहद जरूरी है।

राजनाथ सिंह ने जोर देकर कहा कि आज मैं फिर से दोहराता हूं कि भारत ग्लोबल सिक्योरिटी आर्किटेक्चर के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। हमें आतंकवाद, ड्रग ट्रैफिकिंग जैसे खतरों से निपटने के लिए संस्थागत क्षमता की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मैं हमारे प्रधानमंत्री के विचारों को दूसरी तरह से कहूं, तो हमार मकसद सुरक्षा और सभी का विकास है।

रक्षा मंत्री ने RATS को सराहा
राजनाथ सिंह ने एससीओ की रीजनल एंटी-टेररिज्म स्ट्रक्चर (RATS) के काम को सराहा। रक्षा मंत्री ने कहा कि हम साइबर डोमेन में कट्‌टरपंथ और उग्रवाद के प्रसार को रोकने के लिए RATS के हाल के कामों की प्रशंसा करते हैं। चरमपंथी प्रचार और डी-रैडिकलाइजेशन का मुकाबला करने के लिए एससीओ परिषद द्वारा आतंकवाद विरोधी उपायों को अपनाना बेहद अहम फैसला है।

अफगानिस्तान के सुरक्षा हालातों पर चिंता जाहिर की
रक्षा मंत्री ने पर्शियन गल्फ रीजन के हालातों पर चिंता जाहिर की। अफगानिस्तान के हालात पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में सुरक्षा की स्थिति अब भी चिंता का सबब बनी हुई है। उन्होंने कहा कि शांति प्रक्रिया में भारत अफगानिस्तान के लोग और उनकी सरकार का समर्थन करता रहेगा।

पाकिस्तान को हथियार सप्लाई नहीं करने की पॉलिसी दोहराई
इससे पहले राजनाथ सिंह ने रूस के रक्षा मंत्री जनरल सरगे शोइगू से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान रूस ने पाकिस्तान को किसी भी तरह के हथियार की सप्लाई नहीं करने की अपनी पॉलिसी दोहराई। मीटिंग में भारत के अनुरोध पर रूस ने इस बारे में अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *