Rakhi must tie the accused to the sufferer of molestation, the Excessive Courtroom has given the situation with grant of bail | जमानत के लिए पहली शर्त यही है कि जिस महिला के साथ छेड़छाड़ की, उससे घर जाकर राखी बंधवाओ, उसके बच्चों को गिफ्ट दो

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Rakhi Will Have To Tie The Accused To The Sufferer Of Molestation, The Excessive Courtroom Has Given The Situation With Grant Of Bail

इंदौर15 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मप्र हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ ने छेड़छाड़ के आरोपी की जमानत अर्जी पर सुनवाई की। – फाइल फोटो।

  • हाईकोर्ट ने कहा- महिला के बच्चे को 5 हजार रुपए के कपड़े भी दिलवाना होंगे
  • छेड़खानी की पीड़िता से राखी बंधवाने के साथ 11 हजार रुपए उपहार भी देना होगा

हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ ने महिला से छेड़छाड़ के आरोपी एक व्यक्ति को जमानत देने के लिए एक अनोखी शर्त रखी। हाईकोर्ट ने पहली शर्त में कहा कि जिस महिला के साथ आरोपी ने छेड़खानी की, उसके घर जाकर राखी बंधवानी होगी। महिला के बच्चों को उपहार भी देने होंगे।

अप्रैल में विक्रम बागरी के खिलाफ छेड़खानी का केस दर्ज किया गया था। आरोपी ने एक महिला के घर में घुसकर छेड़खानी की थी। पीड़ित महिला के परिजन ने विक्रम के खिलाफ केस दर्ज कराया था। आरोपी ने हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ में जमानत अर्जी दायर की थी।

मामले की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने जमानत आदेश में कहा कि three अगस्त को राखी के दिन वह अपनी पत्नी के साथ पीड़ित महिला के घर जाएगा। महिला से आग्रह करेगा कि वह उसे भाई के रूप में स्वीकार करें। महिला को वचन दे कि उसकी जीवनभर रक्षा करेगा। राखी बंधवाने के साथ वह महिला को 11 हजार रुपए दे और मिठाई भी साथ लेकर जाए।

three अगस्त के दिन उसे इस शर्त का पालन करना होगा। शर्त को पूरी करने के फोटोग्राफ्स और महिला को दिए गए पेमेंट की रसीद कोर्ट में जमा करवानी होगी।

शराब बेचने वालों को जमानत देने लिए कहा था- पहले सैनिटाइजर और मास्क दान करें
इससे पहले जुलाई में शराब का अवैध बेचने के आरोप में पकड़े गए दो आरोपियों को जमानत देने के लिए इंदौर खंडपीठ ने अनोखी शर्त रखी थी। हाईकोर्ट ने आरोपियों से कहा था कि जमानत चाहिए तो अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर और उच्च क्वालिटी का मास्क दान करें, तभी जमानत मिलेगी।

धार जिले की पुलिस ने सरोज राजपूत और रामकृष्ण नागर नामक दो आरोपियों को आबकारी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था। आरोपी नागदा से इंदौर 51 लीटर अवैध लेकर जा रहे थे। न्यायाधीश विवेक रूसिया ने सुनवाई के बाद आदेश दिया कि यदि दोनों आरोपी 5-5 लीटर अच्छी क्वालिटी का सैनिटाइजर और 200-200 मास्क का दान जिला अस्पताल धार को करते हैं, तो उन्हें जिला कोर्ट में 40-40 हजार रुपए की जमानत और इतनी ही राशि का मुचलका पेश करने पर जमानत दी जाएगी।

ग्वालियर बेंच ने जमानत के लिए आरोग्य सेतु एप इंस्टॉल करने की शर्त रखी थी
हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने जमानत के मामलों में आरोपियों को पौधे लगाने, अस्पताल में जाकर सेवा करने और यहां तक कि भारत के वीर जैसे ऐप में पैसे जमा करने की शर्त पर राहत प्रदान की है। दतिया की सियाजू दुबे को 50 हजार के निजी मुचलके और आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल करने की शर्त पर जमानत का लाभ दिया गया।

वहीं, विदिशा जिले के लटेरी निवासी रेखाबाई को भी इन्हीं शर्तों पर जमानत का लाभ दिया गया। एक अन्य मामले में ग्वालियर के राहुल लोधी को अन्य शर्तों के साथ यह एप इंस्टॉल करने की शर्त पर जमानत दी गई।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *