RSS के विरोध में सिखों की सबसे बड़ी कमेटी: संघ के खिलाफ प्रस्ताव पास कर कहा- माइनॉरिटी की आजादी छीनकर बनाया जा रहा हिंदू राष्ट्र

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमृतसर9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

प्रस्ताव पास करते हुए बीबी जागीर कौर ने कहा कि RSS दूसरे धर्मों और अल्पसंख्यकों की आजादी को दबा रही है।

सिख धर्म की सबसे बड़ी कमेटियों में से एक शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के विरोध में उतर आई है। SGPC ने गुरुवार को अपने जनरल हाउस (बैठक) में एक प्रस्ताव पास किया। प्रस्ताव में RSS निंदा करते हुए भारत सरकार को चेतावनी दी गई है।

SGPC की अध्यक्ष बीबी जागीर कौर ने कहा है कि RSS दूसरे धर्मों (अल्पसंख्यकों) की आजादी छीनकर हिंदू राष्ट्र बनाने की कोशिश कर रही है। प्रस्ताव में कहा गया कि देश में सिखों को दबाने की कोशिश की जा रही है। जागीर कौर ने कहा कि भारत में कई धर्म, भाषा और बर्गों के लोग रहते हैं। सभी का आजादी की लड़ाई में योगदान रहा है। योगदान देने वालों में सिख समाज का नाम सबसे ऊपर है। इसके बाद भी उन्हें दरकिनार कर RSS हिंदू राष्ट्र बनाने की दिशा में काम कर रहा है।

प्रस्ताव में भारत सरकार को भी चेतावनी
बीबी जागीर कौर ने कहा कि दूसरे धर्मों की आजादी का खयाल रखा जाना चाहिए। प्रस्ताव में भारत सरकार को भी वॉर्निंग दी गई है। इसमें कहा गया है कि सरकार RSS की तरफ से शुरू की गई कोशिशों को लागू करने के लिए तत्पर रहती है। इससे दूसरे धर्म के अधिकारों और धार्मिक आजादी को खतरा महसूस होता है। इसके बजाय सरकार को माइनॉरिटी को सुरक्षा देनी चाहिए और उन्हें परेशान करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। बता दें कि देश में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अलावा, ​​​​​​​श्री अकाल तख्त साहिब और शिरोमणि अकाली दल भी सिख समाज का प्रमुख संगठन है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *